प्रधानमंत्री की रसोई में कितने गैस सिलेंडर होते हैं खर्च...मोदी से पूछे जा रहे हैं ऐसे अटपटे सवाल

नई दिल्ली (7 फरवरी): जब से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने हैं तबसे उनकी छोटी-छोटी बातों को जानने के लिए लोग उत्सुक रहते हैं। कुछ लोग तो ऐसे हैं जो उनकी लाइफ स्टाइल जानने के बहाने उन पर ताने और तंज़ भी कसने से नहीं चूकते। यूं तो भारत के प्रधान मंत्री के बारे में जानकारी हासिल करना बहुत मुश्किल है, लेकिन आरटीआई ने सब कुछ जानना आसान कर दिया है।

आरटीआई के जरिए लोग अब प्रधानमंत्री की 'किचेन' में भी सेंध लगाने की कोशिश कर रहे हैं। मतलब यह कि अब लोग ये भी पूछने लगे है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अक्टूबर 2014 में कितने गैस सिलैंडर इस्तेमाल किये। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एक प्रधानमंत्री को प्रधान सेवक कहने पर प्रधानमंत्री कार्यालय से डॉक्युमेंट्स मांगे गये हैं। पूछा गया है कि प्रधानमंत्री पदनाम प्रधान सेवक कब से किया गया है।

प्रधानमंत्री के सरकारी आवास और कार्यालय में रोजाना सैकड़ों ऐसी आरटीआई आती है्ं जिनका जवाब देना काफी मुश्किल होता है। एक आरटीआई में तो प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव के ऊपर भी उंगली उठायी गयी है। पूछा गया है कि क्या उन्होंने अपने नजी स्टाफ को पिकनिक पर ले जाने का प्लान बनाया था?...