घर के मुख्य दरवाजे के सामने नहीं होनी चाहिए ये चीजें, कंगाल ही नहीं जल्द बीमार हो जाएंगे आप !

Image credit: Google


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21नवंबर): हर कोई अपने घर में सुख-समृद्धि चाहता है और उसके लिए तरह-तरह के जतन भी करता है। आदमी कितना भी परेशान और हारा थका क्यों ना हो वह घर लौटना चाहता है, घर लौटते ही उसकी दिनभर की थकान दूर हो जाती है। उसकी परेशानी कम होने लगती है। लेकिन कभी-कभी पूजा-पाठ से लेकर वास्तु के अनुसार घर बनाने के बावजूद मां लक्ष्मी नाराज रहती हैं। इसकी जिम्मेदार आपके घर के आस-पास की कुछ चीजें भी हो सकती है। घर में सुख-शांति एवं रोगों का वास होना वास्तु दोष का प्रमुख कारण माना जाता है। इन दोषों की वजह से घर के सदस्यों का स्वास्थ खराब रहता है। वे उन्नति नहीं कर पाते हैं। इन दोषों को बढ़ावा देने में घर का मुख्य द्वार भी शामिल होता है। घर के मेन गेट के सामाने किसी भी प्रकार की बाधा नकारात्मकता को बढ़ावा देती है।

Image credit: Google

घर के सामने इन चीजों का होना होता है अशुभ...

Image credit: Google


- घर के आगे अगर गंदा पानी जमा हुआ है तो उसे तुरंत हटवा लें। इससे बीमारियां तो होती ही हैं, साथ ही धन का भी नुकसान होता है।
- घर के मुख्य द्वार के सामने अगर बिजली का खंभा है तो इससे आपकी तरक्की में बाधा आ सकती है।

- घर के आगे आक जैसे पौधे भी नहीं होने चाहिए। यह कष्टों को बढ़ाता है।

- घर के आगे अगर कांटेदार पौधे उग रहे हैं तो उसे जल्दी छंटवा लें। इन पौधों के बढ़ने का मतलब है आपके शत्रुओं का बढ़ना। इससे पारिवारिक मतभेद भी बढ़ते हैं।

- अगर घर के गेट से कोई बेल ऊपर चढ़ रही है तो वह आपके लिए शुभ नहीं है। इसके ऊपर चढ़ने से आपकी तरक्की नीचे आएगी।

- घर के आगे पत्थरों का जमावड़ा लगा है तो इससे आपके जीवन में बाधाएं उत्पन्न हो सकती हैं। करियर में भी आपको असफलता हाथ लग सकती है।

- घर के नजदीक कूड़ेदान का होना भी वास्तु में अशुभ माना गया है। इससे वास्तु दोष होता है।

- घर के बाहर या फिर मेन गेट के सामने गड्ढा नहीं होना चाहिए, इससे मानसिक परेशानी बढ़ती है। इतना ही नहीं परिवार के किसी सदस्य को मानसिक रोग भी हो सकता है। घर के बाहर या गेट के ठीक सामने किसी तरह का गड्ढा होना घर में नकारात्मकता लाती है।

- वास्तु के अनुसार बच्चों की इस बीमारी की वजह घर के मेन गेट के सामने किसी खंबे या पेड़ का होना हो सकता है। वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर के प्रवेश द्वार भी किसी तरह की रुकावट नहीं होनी चाहिए।

- घर के प्रवेश द्वार के ठीक सामने मंदिर नहीं होना चाहिए। वास्तु में इसे अशुभ माना जाता है। ऐसा करने पर घर में बीमारी आती है और परिवार के सदस्यों को कई तरह के कष्ट झेलने पड़ते हैं।

- घर के प्रवेश द्वार के सामने या आस-पास कब्रिस्तान होने से घर के लोग बीमार रहते हैं। ये लोगों में नकरात्मकता लाता है। ऐसे व्यक्ति अंधेरे से भी डरने लगते हैं। उन्हें नजर दोष व अन्य भूत—प्रेत बाधाओं का डर रहता है। ऐसे लोगों का शरीर भी कमजोर होने लगता है।

- मेन गेट के सामने कोई टूटा-फूटा मकान या दुकान का होना भी वास्तु के अनुसार अशुभ माना जाता है। ये घर में निर्धनता लाता है। साथ ही लोगों के शरीर को दुर्बल बनाता है। इससे व्यक्ति को घबराहट और बेचैनी की भी समस्या होने लगती है।

- घर हमेशा खुले स्थान पर होना चाहिए। इससे घर में सकारात्मकता आती है। घर का प्रवेश द्वार कभी भी बंद गली में नहीं खुलना चाहिए। ऐसा होने से किस्मत भी बंद हो जाती है और घर में निर्धनता आ जाती है। ये रुपए- पैसों के अलावा शारीरिक बल भी छीन लेता है। इससे व्यक्ति् के शरीर में रोगों से मुकाबला करने की क्षमता भी कम हो जाती है।

- यदि आपके घर के पास या मेन गेट पर हमेशा अंधेरा रहता हो, तो यह भी वास्तु के अनुसार बहुत अशुभ होता है। ये घर में रोग, निर्धनता और नकरात्मकता लाता है। ऐसे घर में रहने वालों की कभी तरक्की नहीं होती। उन्हें समाज में भी कई बार अपमानित होना पड़ता है।

Image credit: Google