भारत में लॉन्च हुई चाइल्ड पॉर्न पर लगाम लगाने के लिए हॉटलाइन

नई दिल्ली (20 सितंबर): चाइल्ड पॉर्न पर नकेल कसने के लिए सरकार ने इंटरनेट हॉटलाइन लॉन्च की है। यह हॉटलाइन लोगों को इंटरनेट पर बच्चों के यौन शोषण वाली तस्वीरों और वीडियो की शिकायत करने के लिए प्रोत्साहित करेगी।

इस हॉटलाइन को ऐंटी-ट्रैफिकिंग चैरिटी 'प्रेरणा' का 'आरंभ इनिशटिव' चला रहा है। इसके सह-निदेशक सिद्धार्थ पिल्लै का कहना है कि ऑनलाइन तस्वीरों को हटाने का यह इस तरह की पहली कोशिश है। पहले शिकायत मिलने के बाद पहले इस तरह के कॉन्टेंट को ब्लॉक किया जाएगा और फिर हटा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि यूजर्स द्वारा रिपोर्ट किए जाने के कुछ घंटों के अंदर ही ब्लॉकिंग कर दी जाएगी, जबकि हटाने में एक हफ्ते तक का वक्त लग सकता है। ऐसा इसलिए, क्योंकि यह बात इस पर निर्भर करती है कि कॉन्टेंट को होस्ट करने वाले सर्वर किस देश में हैं।

हॉटलाइन को इस्तेमाल करना बेहद आसान है। इसमें एक ऑनलाइन फॉर्म दिया गया है, जिसे लोग, पुलिस, इंटरनेट कंपनियां और पीड़ित इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे हिंदी या इंग्लिश में ऐक्सेस किया जा सकता है। यह आरंभ इंडिया की वेबसाइट पर मौजूद है। बच्चों के यौन शोषण वाली तस्वीरों की समस्या पूरी दुनिया में है। ज्यादातर तस्वीरें नॉर्थ अमेरिका और यूरोप में पाई जाती हैं, क्योंकि वहां पर इंटरनेट सर्विसेज विकसित हैं।