अंधविश्वास का नजारा: आत्मा लेने अस्पताल पहुंचे परिजन

नई दिल्ली (13 मार्च): राजस्थान के कोटा के अस्पताल में एक बार फिर अंधविश्वास का नजारा देखने को मिला। तीन माह पहले इलाज के दौरान युवक की मौत के बाद सोमवार को परिजन मृतक की आत्मा लेने आईसीयू तक पहुंच गए, लेकिन पुलिस ने उन्हें बाहर ही रोक लिया।

जानकारी के मुताबिक बूंदी जिले के बसोली कस्बा निवासी रामदेव भील तीन माह पहले सड़क दुर्घटना में घायल हुआ था, जिसकी एमबीएस अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। रामदेव की मौत के बाद परिवार के सदस्यों की तबियत खराब रहती थी, वहीं अशांति का माहौल था। किसी ने उनको शांति के लिए मृतक रामदेव की आत्मा की लाने की सलाह दी, जिसके बाद सोमवार को करीब डेढ़ दर्जन महिला-पुरुष, ढोल की थाप पर गीत गाते हुए अस्पताल पहुंच गए।

अस्पताल में पुलिसकर्मी ने उन्हें रोक लिया, लेकिन कुछ महिलाएं पुलिस विरोध बावजूद आईसीयू में जा पहुंची। करीब 20 मिनट तक अस्पताल में हंगामा मचा रहा। आखिरकार अस्पताल के पास परिजनों ने जोत लगाई, पूजा पाठ किया और मृतक की आत्मा को ढोल की थाप के साथ-साथ ले जाने का दावा करते हुए चले गए।