Blog single photo

साध्वी बनने का ढ़ोंग रचने वाले भीखाराम ने की आत्महत्या, जलसमाधि लेने का बाद लड़की बनने का किया था दावा

राजस्थान के राजपुरा गांव में 20 साल के लड़के भीखाराम ने सुसाइड कर लिया है। मिली जानकारी के मुताबिक भीखाराम ने फांसी के फंदे पर लटककर आत्महत्या कर ली। आपको बता दें कि 20 साल के इस लड़के ने कुछ दिन पहले यह दावा किया था कि वह लड़की बन चुका है। गांव की कुछ महिलाओं ने भी उसके जननांगों को देखने के बाद लड़के की बात पर मुहर लगा दी है। यही नहीं गांववाले इसे चमत्कार मान रहे थे और लड़के के घर के बाहर पूजा-पाठ भी करने लगे थे। इसके बाद पुलिस ने युवक पर धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला दर्ज किया था।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 नवंबर): राजस्थान के राजपुरा गांव में 20 साल के लड़के भीखाराम ने सुसाइड कर लिया है। मिली जानकारी के मुताबिक भीखाराम ने फांसी के फंदे पर लटककर आत्महत्या कर ली। वहीं घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर वहां पुलिस पहुंच गई है। आपको बता दें कि 20 साल के इस लड़के ने कुछ दिन पहले यह दावा किया था कि वह लड़की बन चुका है। गांव की कुछ महिलाओं ने भी उसके जननांगों को देखने के बाद लड़के की बात पर मुहर लगा दी है। यही नहीं गांववाले इसे चमत्कार मान रहे थे और लड़के के घर के बाहर पूजा-पाठ भी करने लगे थे। इसके बाद पुलिस ने युवक पर धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला दर्ज किया था।

भीखाराम के परिवारवालों का कहना था कि उसका जन्म लड़के के रूप में हुआ था। इससे पहले उसमें कभी लड़कियों वाली कोई हरकत नहीं दिखाई दी। वह सामान्य लड़कों की तरह रहता था। बता दें, गांववालों ने कुएं के पास मिट्टी से शिवलिंग बनाकर पूजा शुरू कर दी थी। लोगों का कहना था कि भीखाराम शिवभक्त है और श‍िव के आदेश से ही अब वह लड़की रूप में जीवन व्यतीत करेगा।

भीखाराम बैंगलौर में काम करता था और बीते 16 सितंबर को वापस घर लौटा। इसके बाद वह एक लेटर लिखकर आत्महत्या करने के लिए चला गया। भीखाराम ने बताया कि वह जान देने के लिए एक कुएं में कूदा था, लेकिन गिरकर वह बेहोश हो गया। जब उसे होश आया तो वह कुएं के बाहर था। उसने महसूस किया कि वह पूरी तरह से लड़की बन चुका है।

Tags :

NEXT STORY
Top