ऑपरेशन ब्लू: हनी ट्रैप में फंसे 15 अय्याश नेता

नई दिल्ली (5 मई): एक फ्लैट जिसके बैडरूम में लगे रहते थे खुफिया कैमरे। शिकार आया और उसकी तस्वीरें कैमरे में कैद होनी शुरु हो जातीं। ये सारा खेल था ब्लैकमेलिंग का, जिसमें एक लेडी ने नेताओं को अपने जाल में फंसाने के लिए पूरी तैयारी की थी। यूपी से लेकर गुजरात तक के नेताओं को वो ब्लैकमेलिंग के खेल में फंसा रही थी, लेकिन पुलिस ने उसके खेल का खुलासा कर दिया और सामने आ गया अय्याशी का ऑपरेशन ब्लू।


बताया जा रहा है कि ब्लैकमेलर लेडी की लिस्ट में कुल 25 लोगों के नाम हैं और वो सब के सब अमीरजादे हैं। पुलिस के मुताबिक अय़्याशी के इस खेल में उस लेडी ने ब्लैकमेलिंग का ऐसा जाल बुना, जिसमें लाखों की वसूली की गई और ये वसूली जारी रहती अगर गुजरात का एक सांसद हनी ट्रैप में ना फंसा होता। गुजरात के सासंद की अश्लील वीडियो बनाकर उससे 5 करोड़ की डिमांड की जा रही थी, लेकिन ऐन वक्त पर ब्लूफिल्म बनाने वाली लेडी के चेहरे से नकाब उतर गया और अब पुलिस को राज़ उसने उगले हैं।


उससे पुलिस के होश उड़ चुके हैं, क्योंकि ये धंधा खुफिया कैमरे में अश्लील तस्वीरें कैद करके ब्लैकमेलिंग का निकला और इशके सबूत पुलिस को लेडी के गाजियाबाद के इंदिरापुरम वाले फ्लैट से मिले। तफ्तीश जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है। पुलिस के हाथ कई सुराग लग रहे हैं और एक ऐसा नेटवर्क सामने आ रहा है जिसका धंधा ही ब्लैकमेलिंग है। ब्लैकमेलर लेडी के घर से मिले आपत्तिजनक सामग्री से पुलिस का शक और पुख्ता हो जाता है।


- 500 जीबी का डीवीआर

- डीवीआर में नेताओं की अश्लील क्लीपिंग

- कमरे में लगा खुफिया कैमरा

- लेडी के पर्स में 2 स्टिंग ऑपरेशन के कैमरे

- कमरे में नेताओं और पुलिसकर्मियों के विजिटिंग कार्ड

- लेडी के बैडरूम से सेक्सवर्धक दवाएं


इसके अलावा पुलिस को कुछ ऐसी जानकारी हाथ लगी है, जिसके बाद तफ्तीश का दायरा यूपी और उत्तराखंड तक जा पहुंचा है। पुलिस के मुताबिक लेडी का संबंध पश्चिमी यूपी के किसी बड़े क्रिमिनल से भी है, जिसके साथ मिलकर ब्लैकमेलिंग का खेल होता था। बताया जा रहा है कि लेडी की रईस लोगों और नेताओं से मुलाकात मुजफ्फरनगर का हिस्ट्रीशीटर करवाता था और आगे वो लेडी मेलजोल बढ़ाकर फोन पर अश्लील बातें करती थी। कुछ ही दिन में उन नेताओं को अपने घर तक ले जाती थी, जहां पहले से लगे होते थे खुफिया कैमरे। जो नेता और उस लेडी के निजी पलों की तस्वीरें कैद कर लेते थे, जिसके बाद लेडी उन्हीं वीडियो के जरिए लाखों की डिमांड करती थी।


पुलिस के मुताबिक ब्लैकमेलिंग करने वाली महिला नेताओं तक पहुंचने के लिए कई और तरीके भी अपनाती थी,

जिसमें...


- सरकारी वेबसाइट से नेताओं के दफ्तर के नंबर लेती थी

- फोन पर बात करके किसी काम से दफ्तर में मिलने जाती थी

- गृह मंत्रालय में भी महिला का आना-जाना था

- एक नेता से दूसरे नेता की जानकारी लेती थी

- अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेलिंग करती थी

- पैसा नहीं मिलने पर रेप का केस दर्ज कराने की धमकी देती थी


ब्लैकमेलिंग वाली लेडी पुलिस की रिमांड पर है। उसके खेला का खुलासा तो गया, लेकिन इस खेले कई ऐसे चेहरे पुलिस की डायरी में दर्ज होने लगे हैं जो सफेदपोश थे, जिनकी लिस्ट 15 तक जा पहुंची है।