अटॉर्नी जनरल ने राज्यपाल को दी तमिलनाडु विधानसभा में शक्ति परीक्षण कराने की सलाह

नई दिल्ली ( 13 फरवरी ): अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने सोमवार को तमिलनाडु के राज्यपाल सी विद्यासागर राव को सलाह दी है कि वह विधानसभा में बहुमत परीक्षण करवाएं ताकि यह पता चल सके कि बहुमत कार्यवाहक मुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम के पास है या पार्टी महासचिव वीके शशिकला के साथ। अटॉर्नी जनरल से सुझाव दिया है कि राज्यपाल द्वारा एक सप्ताह के अंदर तमिलनाडु विधानसभा का एक विशेष सत्र बुलाया जाए और फ्लोर टेस्ट करवाया जाए।

मुकुल रोहतगी ने अपने सुझाव में 1998 में उत्तर प्रदेश विधानसभा में जगदंबिका पाल और कल्याण सिंह के बीच हुए फ्लोर टेस्ट का हवाला दिया है। उन्होंने कहा है कि उसी तर्ज पर तमिलनाडु में भी बहुमत परीक्षण कराए जाना चाहिए।

इस बीच सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को शशिकला के खिलाफ आय से ज्यादा संपत्ति के मामले में फैसला सुना सकता है। अगर फैसला उनके खिलाफ जाता है तो उनका राह मुश्किल हो सकती है।