क्या मून 20 अप्रैल को हो जाएगा ग्रीन, जानिए सच...

नई दिल्ली (6 अप्रैल) :  आपको याद होगा कि बीते नवंबर में 15 दिन अंधेरा रहने की अटकलें लगाए जाने पर खूब हायतौबा मची थी। उसका कारण ग्रहों की स्थिति में बदलाव को बतलाया गया था। लेकिन ऐसा कुछ हुआ नहीं था। एक बार फिर वैसी ही अटकलें लगाने वाले सक्रिय हैं। कहा जा रहा है कि 20 अप्रैल को ग्रीन मून (हरा चांद) दिखेगा।  

इंटरनेशनल बिज़नेस टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक सोशल मीडिया पर ऐसी अटकलें गर्म हैं कि अप्रैल के तीसरे बुधवार को कुछ ग्रह फिर से अलाइन हो रहे हैं, इसकी वजह से 90 मिनट तक ग्रीन मून दिखेगा।

'ट्रूथ इनसाइड ऑफ यू'  उन वेबसाइट्स में से एक है जिसने इस चेतावनी को छापा है। साथ ही लोगों से इसे शेयर करने की अपील की है। कहा जा रहा है कि ये खगोलीय घटना दुर्लभ है और हर 420 साल में एक बार होती है।

ग्रीन मून के लिए एक और तारीख 29 मई बतायी जा  रही है।

लेकिन अर्थस्काई ने दोनों ही तारीखों को ख़ारिज किया है। उसने इसे एक और ऑनलाइन अफवाह बताया है। अरबन डिक्शनरी के हवाले से इस साइंस पोर्टल ने कहा है कि 420 या 20 अप्रैल को 'वीड डे' के तौर पर मनाया जाता है। सैन राफेल हाईस्कूल के के कुछ छात्रों की ओर से बनाई गई मारिजुआना के लिए ये कोड वर्ड था।  

स्नोप्स वेबसाइट के मुताबिक इस अफवाह की जड़ 25 मार्च को नॉर्थ कैरोलिना के माइल्स जॉनसन की फेसबुक पोस्ट में है। जॉनसन ने एक फोटो पोस्ट कर 29 मई को ग्रीन मून होने की बात कही थी। जॉनसन ने इसके लिए यूरेनस प्लेनेट का हवाला दिया था। सूर्य से ये सातवां प्लेनेट है और चांद के नज़दीक पड़ता है। क्योंकि ये हरा प्लेनेट है और चांद से सिर्फ 4 डिग्री दूर होगा। यूरेनस वातावरण की मीथेन गैस की ओर से लाल प्रकाश के अवशोषण से अपना रंग प्राप्त करता है। स्नोप्स ने ये भी बताया कि चांद की छेडछाड़ की हुई तस्वीर 2010 की ब्लॉग पोस्ट से ली गई है। ये पोस्ट डॉ ग्रीन चीज़ ने लिखी थी और उसका लूनर इवेंट्स से कोई लेनादेना नहीं था।

'सी एंड स्काई प्रेजेंट्स'  नाम के एक और साइंस पोर्टल का कहना है कि 18 अप्रैल को बुध अपने सबसे लंबे पूर्वी इलोंगेशन पर होगा। फूल मून (पूर्ण चंद्रमा) 22 अप्रैल को होगा। इसके बाद अगला फूल मून 21 मई को होगा। ये ब्लू मून होगा क्योंकि ये सीज़न के चार फूल मून्स में तीसरा होगा।