इस फोन से मौत का फरमान सुनाता था हिटलर, अब इतने करोड़ में होगा नीलाम

नई दिल्ली ( 19 जनवरी ): द्वितीय विश्व युद्ध के समय जर्मनी का तानाशाह हिटलर जिस टेलीफोन को इस्तेमाल करता था उसे इस सप्ताह के अंत में अमेरिका के चेस्पीक सिटी में नीलाम किया जाएगा। अलेक्जेंडर हिस्ट्रॉरिकल ऑक्शन के बिल पैनागोपुलस ने बताया कि यह फोन रशियन अधिकारियों ने ब्रिगेडियर सर राल्फ रेनर (Sir Ralph Rayner) को उनके दौरे के दौरान दिया था। अब रेनर के बेटे इस लाल रंग के फोन को नाजी सिंबल के साथ बेच रहे हैं।

फोन के नीचे हिटलर का नाम खुदा है। फोन की नीलामी 2 लाख से तीन लाख अमेरिकी डॉलर में होने की उम्मीद लगाई जा रही है। फोन की नीलामी इस हफ्ते के अंत में एक लाख डॉलर (67 लाख रुपए) से शुरू होगी। यह फोन बर्लिन में मौजूद हिटलर के बंकर से 1945 में सोवियत संघ के सैनिकों को मिला था।

ऑक्सन हाउस के अधिकारी बिल पैनागोपुलस ने बताया कि हिटलर ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान इस फोन को नरसंहार के लिए हथियार के रूप में इस्तेमाल किया था। उन्होंने कहा कि युद्ध में हिटलर इसी फोन से अपने सैनिकों को लोगों को मौत के घाट उतारने का आदेश देता था। सेलर और ऑक्सन हाउस द्वारा उम्मीद की जा रही है कि फोन को कोई संग्रहालय की खरीदे ताकि लोग इसे देख सके और समझ सके असल में चरमपंथी सोच कैसी है? गहरे लाल रंग के इस फोन पर हिटलर का नाम और स्‍वास्तिक भी है। ऑक्‍शन हाउस ने इस फोन को ‘Hitler’s mobile device of destruction’ का नाम दिया है। ऑक्‍शन हाउस को उम्‍मीद है कि ये फोन 3 लाख अमेरिकी डॉलर (2 करोड़ रुपए) की कीमत में बिक सकता है।