ईसाई समुदाय के लोगों से मारपीट, हिंदूवादी संगठन से जुड़े युवाओं पर आरोप

नई दिल्ली ( 15 दिसंबर ): मध्य प्रदेश के सतना जिले में कुछ युवाओं ने ईसाई समुदाय के लोगों के साथ मारपीट की है। धर्मांतरण का आरोप लगाते हुए युवाओं ने 14 दिसंबर की रात को क्रिससम की तैयारियों में जुटे ईसाई समुदाय के लोगों पर हमला बोल दिया। हिंदूवादी संगठन से जुड़े युवाओं पर मारपीट का आरोप है। युवकों ने उनसे मारपीट की और उनकी कार को भी आग के हवाले कर दिया। 

चर्च के पादरी रोनी वर्गीस ने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाया है। उनका कहना है कि पुलिस ने उत्पातियों पर कार्रवाई करने के बजाए पीड़ितों को ही हिरासत में ले लिया और साथ ही छह लोगों के खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया। रोनी वर्गीस ने कहा, “शहर से 15 किलोमीटर दूर दराकलां गांव में स्थित चर्च में पादरी बनने का प्रशिक्षण लेने आए छात्र क्रिसमस की तैयारी में जुटे थे और इसी क्रम में जगह-जगह क्रिसमस कैरोल गाए जा रहे थे और नाटक आदि किए जा रहे थे। 

क्रिसमस की तैयारियों के अंतिम दिन कुछ युवक आए और धर्मांतरण का आरोप लगाते हुए हंगामा करने लगे।”उन्होंने कहा, “इन हिंदूवादी युवकों ने नारे लगाए और सिविल लाइन पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दो पादरी और 32 छात्रों को अपने साथ थाने ले गई।