'देश के 17 राज्यों में हिंदु अपने घरों से पलायन को मजबूर'

नई दिल्ली (9 सितंबर): विश्व हिंदू परिषद ने देश भर में अपने मूल स्थानों से जबरन पलायन करने वाले हिंदुओं को लेकर सर्वे कराना शुरू किया है।

- वीएचपी ने इस अभियान को 'पलायन नहीं, पराक्रम' का नाम दिया है।

- वीएचपी का कहना है कि ये अभियान हिंदुओं को ऐसे संगठनों के खिलाफ सशक्त बनाने के लिए किया गया है।  

- जिनकी वजह से उन्हें अपने मूल स्थानों को छोड़ना पड़ा।

- वीएचपी ने यूपी के कैराना में हुई ऐसी घटना की पृष्ठभूमि में देश के 17 राज्यों में ऐसा सर्वे शुरू कराया है। 

- वीएचपी के संयुक्त महासचिव सुरेंद्र जैन के मुताबिक बंगाल में हिंदुओं के पलायन को लेकर सर्वे का काम पूरा हो चुका है।

- इसके नतीजे शनिवार को कोलकाता में जारी किए जाएंगे।

- सुरेंद्र जैन ने कहा कि देश में कम से कम 17 राज्य है, जहां से हिंदुओं को अपनी जन्मभूमि वाले स्थानों को छोड़ने के लिए मजबूर किया गया।

- सुरेंद्र जैन ने इन राज्यों में जम्मू कश्मीर, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, बिहार, असम, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, गुजरात,  महाराष्ट्र, तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक के नाम गिनाए।