US में हिंदू धर्म की नेगेटिव इमेज दिखाने पर भड़के अमेरिकी भारतीय

वाशिंगटन (20 मई): अमेरिका के कैलिफोर्निया में स्कूली किताबों में हिंदू धर्म और भारत की नेगेटिव इमेज दिखाने पर भारतीय अमेरिकियों ने नाराजगी जताई है। खासकर हॉटॉन मिफलिन हारकोर्ट (HMH), मैकग्रॉ-हिल, डिस्कवरी और नेशनल जियोग्राफिक लगातार भारतीय सभ्यता को गलत तरीके से पेश कर रहे हैं।


इंडियन-अमेरिकन कम्युनिटी पिछले कई सालों से स्कूली किताबों में हिंदू धर्म के बारे में बताई गई कई गलत और झूठी बातों को हटाने पर जोर दे रही है। जबकि कैलिफोर्निया सरकार का यह आदेश है कि किताबों को एजुकेशन डिपार्टमेंट की तरफ से तय ढांचे पर बेस्ड होना चाहिए।


विवादों के बाद कोर्स में हुआ था सुधार

- इस मामले में कई विवादों के बाद पिछले साल कोर्स के फ्रेमवर्क को रिवाइज्ड (संशोधित) किया था। इस काम को कुछ एकेडेमिक्स ने अंजाम दिया था। किताबों में भारत की जगह साउथ एशिया से जुड़े स्टडी मटीरियल को शामिल किया गया था।

- पिछले 2 साल के दौरान डिपार्टमेंट ने स्कॉलर्स, स्टूडेंट्स और कम्युनिटी मेंबर्स की सलाह पर इस फ्रेमवर्क में कई सुधार किए हैं और योग, धर्म, ऋषि व्यास और वाल्मीकि समेत साइंस और टेक्नोलॉजी की फील्ड में भारत की कामयाबियों को कोर्स में शामिल किया है।

- बहरहाल, डिपार्टमेंट ऑफ एजुकेशन अपनी सिफारिशों को मंजूरी के लिए स्टेट बोर्ड ऑफ एजुकेशन के पास इसी साल बाद में भेजेगा। बोर्ड द्वारा रिकमेंड किताबें स्कूलों में अगले साल से पढ़ाए जाने के आसार हैं।