JNU में 'शुद्धिकरण' के लिए रामनवमी पर हुई 'पूजा-प्रार्थना'

नई दिल्ली (16 अप्रैल): जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में छात्रों के एक समूह ने शुक्रवार को परिसर के एक हॉस्टल में रामनवमी और नवरात्रि के मौके पर एक धार्मिक आयोजन किया। कहा जा रहा है, यह आयोजन कैम्पस से "राष्ट्रद्रोहियों के बाहर निकलने" और यूनिवर्सिटी के "शुद्धिकरण" के लिए "प्रार्थना" के लिए किया गया।

'हिंदुस्तान टाइम्स' की रिपोर्ट के मुताबिक, छात्रों के समूह हिंदू जागरण अभियान ने कैम्पस में यह आयोजन किया। कैम्पस में 9 फरवरी को हुई कार्यक्रम का संकेत देते हुए छात्र संगठन ने एक बयान में कहा, "मां दुर्गा के अपमान और राष्ट्रद्रोही नारे लगने के बाद जेएनयू में हिंदू जागरण अभियान और हिंदू विद्यार्थी सेना ने रामनवमी और नवरात्र के मौके पर रामनवमी और भगवती पूजा की।"

9 फरवरी को अफजल गुरु की बरसी और महिषासुर की पूजा की गई थी। बयान में यह भी कहा गया, "भगवान से प्रार्थना की गई कि वह देश के सभी राष्ट्रद्रोहियों को बाहर निकालें और यूनिवर्सिटी और देश को अपवित्र विचारों वाले लोगों से शुद्ध करें। साथ ही समरसता और शांति लाएं।" मांडवी हॉस्टल के लॉन में आयोजित इस कार्यक्रम में करीब 100 छात्र शामिल हुए।