हिमाचल में भारी बारिश से 8 लोगों की मौत, वाहनों की आवाजाही ठप

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 अगस्त): हिमाचल प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में बारिश और बाढ़ से 8 लोगों की मौत हुई है। कई जिलों में बाढ़ के कारण गांवों का संपर्क कट गया है। राज्य के तमाम हिस्सों में हुई लैंड स्लाइड्स और फ्लैश फ्लड के कारण 323 रास्तों और राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 5 पर वाहनों की आवाजाही बंद हो गई है। हिमाचल प्रदेश के अलावा उत्तराखंड और राजस्थान के कई हिस्सों में भी बाढ़ जैसे हालात के कारण सार्वजनिक संपत्तियों को काफी नुकसान हुआ है।

जानकारी के मुताबिक, वर्षाजनित घटनाओं के कारण हिमाचल प्रदेश में आठ लोगों की मौत हुई है। शिमला के आरटीओ कार्यालय के पास भूस्खलन की घटना में तीन लोगों के मारे जाने की सूचना है। इसके अलावा इस घटना में एक अन्य शख्स के मलबे में दबे होने की खबर है। वहीं, बारिश के कारण एक मकान की दीवार गिरने के कारण एक मजदूर की भी मौत हुई है। मृत मजदूर की पहचान शाह आलम नाम के शख्स के रूप में हुई है, जो बिहार के किशनगंज का रहने वाला था। साथ ही कुल्लू जिले के रोहरू में भूस्खलन के कारण 1 शख्स की मौत हुई है। बारिश के कारण गिरे एक पेड़ की चपेट में आने से 2 नेपाली नागरिक मारे गए हैं, वहीं चंबा में भी बाढ़ के पानी में बहने से एक शख्स की मौत हो गई।

रविवार को किन्नौर जिले के रिब्बा इलाके में बारिश के कारण हुए भूस्खलन के बाद राष्ट्रीय राजमार्ग 5 पर वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई है। इसके अलावा प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में भूस्खलन की अलग-अलग घटनाओं के कारण 323 सड़कों पर वाहनों की आवाजाही अवरुद्ध है। प्रदेश के कांगड़ा जिले में अब तक सबसे अधिक बारिश हुई है। यहां अधिकारियों ने 118 एमएम तक वर्षा होने की बात कही है। इसके अलावा धर्मशाला में 115 एमएम, डलहौजी और चंबा में 73 एमएम बारिश हुई है।

चंबा, कांगड़ा समेत अन्य स्थानों पर जिला प्रशासन ने बारिश और लैंड स्लाइड के अपडेट देने के लिए वॉट्सऐप ग्रुप बना दिए हैं। आधिकारिक जानकारी के मुताबिक लाहुल-स्पिति जिले में मनाली की ओर जाने वाले नैशनल हाइवे पर कोकसर के पास एक पुल क्षतिग्रस्त होने के कारण वाहनों की आवाजाही थम गई है। इसके अलावा मनाली लेह हाइवे पर भी भूस्खलन होने के कारण यातायात प्रभावित हुआ है। बारिश के कारण चंबा और कांगड़ा जिले के सारे स्कूल कॉलेज बंद कर दिए गए हैं।

बारिश के कारण हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में बस स्टैंड के पास की एक सड़क पानी में बह गई, जिसके कारण यहां पर किसी भी वाहन की मूवमेंट नहीं हो पा रही है। साथ-साथ तमाम इलाकों को जोड़ने वाली सड़कों पर पहाड़ी पत्थर गिरने और लैंड स्लाइड के कारण सड़कें क्षतिग्रस्त हुई हैं, जिनपर दोबारा परिवहन सामान्य कराने के लिए प्रशासनिक स्तर पर काम किया जा रहा है।