हिलैरी ने कहा भारत प्रशांत क्षेत्र की महत्वपूर्ण ताकत, चीन-पाकिस्तान मेंं बौखलाहट

नई दिल्ली (5 जुलाई): अमेरिकन डेमोक्रेटिक पार्टी के प्लेटफॉर्म डाक्युमेंट यानी चुनाव घोषणापत्र में भारत को प्रशांत क्षेत्र की महत्वपूर्ण ताकत घोषित किया गया है। इस डाक्युमेंट में भारत को महत्वपूर्ण ताकत घोषित किये जाने से एक बार फिर पाकिस्तान और चीन को मिर्ची लगी है। अमेरिकन राष्ट्रपति पद के लिए नवम्बर में होने वाले चुनावों से पहले हिलैरी और ट्रंप दोनों ने जिस तरह से भारत को प्रमुखता दी है उससे चीन और पाकिस्तान में बौखलाहट का माहौल बना हुआ है।

दोनों यह भी समझ चुके हैं कि अगला राष्ट्रपति चाहे जिस दल का बने वो भारत को ही प्रमुखता देगा। डेमोक्रेटिक पार्टी के घोषणापत्र से तो स्पष्ट हो ही चुका है कि अगर हिलैरी राष्ट्रपति बनती हैं तो वो भारत के साथ लंबी रणनीतिक साझेदारी की नीति अपनाएंगी। भारत को पैसिफिर क्षेत्र की महत्वपूर्ण ताकत का दर्जा देकर अमेरिका ने चीन के वैश्विक प्रभाव को काफी कर दिया है। हालांकि हिलैरी के घोषणा पत्र में कहा गया है कि अगर वो सत्ता में आती हैं तो  चीन के साथ अपने व्यावसायिक संबंधों को मजबूत करेंगी और साइबर अटैक तथा करैंसी मैनिपुलेशन में बीजिंग का साथ देंगी।