अमेरिकी जनता से क्लिंटन के 10 वादे

नई दिल्ली (29 जुलाई): हिलरी क्लिंटन गुरुवार रात आधिकारिक तौर पर गुरुवार रात अमेरिकी राष्ट्रपति पद की पहली महिला नॉमिनी बन गईं। इसके साथ ही 69 वर्षीय क्लिंटन ने अपने समर्थकों से कई वादे किए हैं। जिससे कि वह नवंबर में होने जा रहे चुनावों में हर हाल में जीत हासिल कर सकें।

ये हैं क्लिंटन के 10 वादे

1. जॉब क्रिएशन

क्लिंटन का पहला मिशन है कि राष्ट्रपति के तौर पर और ज्यादा अवसर पैदा करें। जिससे अमेरिका में बढ़ती आय के साथ और अच्छी नौकरियां पैदा की जा सकें।

2. कॉरपोरेट रिस्पॉन्सिबिलिटी

क्लिंटन कहती हैं- कॉर्पोरेशन्स को देशभक्त होना होगा। एक हाथ से टैक्स ब्रेक लेना और दूसरे से पिंक स्लिप देना गलत होगा। वॉल स्ट्रीट मेन स्ट्रीट को नुकसान नहीं पहुंचा सकता। वॉल स्ट्रीट, कॉर्पोरेशन्स और सुपर रिच को अपना बकाया भुगतान करना होगा।

3. एजुकेशन

बर्नी सैंडर्स और क्लिंटन का वादा है कि वे मिलकर कॉलेज ट्यूशन को मिडल क्लास के लिए फ्री और सभी के लिए कर्जामुक्त बनाएंगे। इस रास्ते में कई सपने बैंक्स के पार्किंल लॉट्स में ही खत्म हो जाते हैं। अगर अमेरिका में आप ख्वाब देख सकते हैं, तो आपको इसे पूरा करने में सक्षम होना चाहिए।

4. हेल्थकेयर   क्लिंटन कहती हैं, अगर अफॉर्डेबल चाइल्ड केयर और पेड फैमिली लीव के लिए लड़ाई करना वुमन कार्ड खेलना है, तो मुझे इससे डील करने दें।

5. राष्ट्रीय सुरक्षा और आतंक से लड़ाई 

क्लिंटन का कहना है कि देश को सुरक्षित रखने और इसके लिए काम करने वाले लोगों का सम्मान उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता रहेगी। हम दुनिया भर में अपने सहयोगियों के साथ आतंक से लड़ेंगे।

6. क्लाइमेट चेंज

क्लिंटन कहती हैं, मेरा मानना है कि क्लाइमेट चेंज वास्तविक है। हम प्लेनेट को कई अच्छी आमदनी वाली क्लीन एनर्जी जॉब्स क्रिएट कर बचा सकते हैं। हमें गर्व है कि हमने ग्लोबल क्लाइमेट चेंज एग्रीमेंट का ढ़ांचा तैयार किया। अब हमें अपने साथ सभी देशों को उनकी प्रतिबद्धताओं के लिए जवाबदेह बनाना होगा।

7. गन लॉ

क्लिंटन का कहना है- मैं यहां आपकी बंदूकों को आपसे लेने के लिए नहीं हूं। मैं बस यह नहीं चाहती कि आप किसी के हाथों मारे जाएं जिसके पास फर्स्ट प्लेस में बंदूक ना हो। हम मेहनत से रिस्पॉन्सिबल गन ओनर्स के साथ काम करेंगे। जिससे बंदूकों को उन लोगों से दूर किया जा सके, जो हमें नुकसान पहुंचा सकते हैं।

8. नस्लवाद

वह कहती हैं- हम यंग ब्लैक और लैटिन लोगों की जगह रखकर देखते हैं। जो सिस्टेमैटिक नस्लवाद के असर का सामना करते हैं और अपने जीवन को इस्तेमाल के लायक मानते हैं। हमें अपने देश को बांटने वाले मौजूदा फर्क का इलाज करना होगा।

9. प्रवासन

हमारे यहां करोड़ों की संख्या में ऐसे लोग हैं, जो हमारी अर्थव्यवस्था में कॉन्ट्रीब्यूट करते हैं। ये खुद को हराने वाला और अमानवीय होगा अगर हम उन्हें निकाल दें।

10. मेक इन अमेरिका

डोनाल्ड ट्रंप कहते हैं कि वह अमेरिका को फिर से ग्रेट बनाएंगे। ठीक है, वह सबसे पहले चीजें अमेरिका में चीजें बनाना शुरू करने से इसकी शुरुआत कर सकते हैं।