साइबर हमले की शिकार हुईं हिलेरी क्लिंटन

वाशिंगटन (5 सितंबर): अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन साइबर हमले का शिकार हुई है। बताया जा रहा है कि हिलेरी एक वेबसाइट का समर्थन करने के बाद इस हमले का शिकार हुई है। यह वेबसाइट कथित तौर पर हिलेरी के राजनीतिक समर्थकों के लिए एक सोशल मीडिया मंच बनने के प्रयास के तहत शुरू की गई है.

हिलेरी ने ट्विटर पर खुद इस हमले की जानकारी दी। हिलेरी के ट्वीट के बाद वेरिट ने काम करना बंद कर दिया, ऐसा साइबर हमले के कारण हुआ। हिलेरी ने ट्वीट कर कहा कि वो वेरिट के साथ जुड़कर उत्साहित महसूस कर रही हूं। मेरे 6.58 करोड़ समर्थकों के लिए सोशल मीडिया मंच! क्या आप मेरे साथ जुड़ना चाहेंगे।

आपको बता दें अब एक नए तरह का लॉकी रैन्समवयेर तेजी से फैल रहा है। यह ऐसा है जो आसानी से पकड़ में भी नहीं आता है। इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स (CERT-In) ने अपनी वेबसाइट पर एक अलर्ट जारी किया है। इसमें बताया गया है कि यह लॉकी रैन्समवयेर ईमेल के जरिए तेजी से फैल रहा है। वानाक्राई के तरह इस रैन्समवेयर का भी मकसद है हैकर्स का पैसा कमाना है।