कोहली का कमाल, हासिल किया एक और मुकाम

नई दिल्ली(17 अक्टूबर): धर्मशाला में खेले गए पांच वनडे मैचों की सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड पर 6 विकेट से जीत दर्ज की। 
भारत की जीत में हार्दिक पंड्या ने जहां अपनी गेंदबाजी से शानदार प्रदर्शन किया, वहीं विराट कोहली ने अपनी बल्लेबाजी से अहम भूमिका अदा की। 
- कोहली ने अपनी इस पारी में एक और मुकाम हासिल कर लिया। धर्मशाला में अपनी 85 रनों की पारी के दौरान कोहली रनों का पीछा करते हुए चौथे सबसे कामयाब भारतीय बल्लेबाज बन गए। उन्होंने अजहरुद्दीन को पीछे छोड़ा। 

आइए देखते हैं कि लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज कौन से हैं।

मोहम्मद अजहरुद्दीन

इस लिस्ट में अजहरुद्दीन पांचवें नंबर पर हैं। उन्होंने कुल 334 मैचों में से 178 में लक्ष्य का पीछा करते हुए बल्लेबाजी की। अजहर ने इस दौरान कुल 4469 रन बनाए। अपने करिय में उन्होंने कुल 9378 रन बनाए। रनों का पीछा करते हुए उनका उच्चतम स्कोर 111 रन नाबाद रहा। वहीं करियर में उनका उच्चतम स्कोर 153 (नॉट आउट) रहा। अजहर के करियर का बल्लेबाजी औसत जहां 36.92 है वहीं दूसरी पारी में उनका औसत 37.24 हो जाता है। करियर में कुल सात ODI शतक लगाने वाले अजहर ने दूसरी पारी में 2 शतक लगाए।


विराट कोहली

विराट कोहली ने अपने करियर में कुल 172 वनडे मैचों में 7297 रन बनाए हैं। उनका बल्लेबाजी औसत भी 52.12 रहा है। कोहली ने अभी तक कुल 25 सेंचुरी भी लगाई हैं। लेकिन बात जब रनों का पीछा करने की आती है तो कोहली का खेल और निखर जाता है। कोहली ने अभी तक रनों का पीछा करते हुए खेले 99 मुकाबलों में 62.40 की औसत से 4493 रन बनाए हैं। उनका उच्चतम स्कोर (183) भी इसी दौरान बना है। कोहली ने 25 में से कुल 15 शतक रनों का पीछा करते हुए बनाए हैं।

राहुल द्रविड़

राहुल द्रविड़ ने अपने करियर में कुल 344 ODI मुकाबलों में 39.16 की औसत से 10889 रन बनाए हैं। वहीं रनों का पीछा करते हुए उन्होंने 176 मैचों में 4687 रन बनाए। रनों का पीछा करते हुए द्रविड़ का बल्लेबाजी औसत 35.24 का रहा है जबकि उनका करियर औसत 39.16 का रहा है।


सौरभ गांगुली

भारत के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली 311 वनडे में 41.02 की औसत से 11363 रन बनाए हैं। वहीं बात जब लक्ष्य का पीछा करते हुए बल्लेबाजी करने की हो तो गांगुली ने 159 मुकाबलों में 39.33 के बल्लेबाजी औसत से कुल 5231 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका उच्चतम स्कोर 135 नाबाद रहा है। गांगुली ने करियर में 22 शतक लगाए जिनमें से 7 दूसरी पारी में लगे।


सचिन तेंडुलकर

463 मुकाबले। 18426 रन। 44.83 का औसत और 49 शतक। सचिन तेंडुलकर के ये रेकॉर्ड किसी भी बल्लेबाज के लिए प्रेरणा हो सकते हैं। लक्ष्य का पीछा करते हुए भी सचिन फिलहाल सचिन सबसे आगे हैं। इस दौरान सचिन ने कुल 242 मुकाबलों में 42.33 की औसत से 8720 रन बनाए। करियर में लगाए 49 शतकों में से 17 सचिन ने रनों का पीछा करते हुए लगाए। उनका उच्चतम स्कोर रहा 175 नॉट आउट।