अभेद होगी नीतीश कुमार की सुरक्षा, खरीदे जा रहे 4.3 करोड़ के अत्याधुनिक हथियार

नई दिल्ली (9 सितंबर): बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सुरक्षा हाईटेक और फुलप्रूफ होगी। इसके लिए 4.3 करोड़ की लागत से अत्याधुनिक हथियार और उपकरण ख़रीदे जा रहे है। इसके बाद नीतीश कुमार आधुनिक हथियारों से लैस सुरक्षा घेरे में रहेंगे। 

सीएम की सिक्योरिटी में लगे स्पेशल सिक्योरिटी ग्रुप (एसएसजी) को अत्याधुनिक हथियारों से लैस किया जा रहा है। साथ ही अत्याधुनिक सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराए जा रहे हैं। गृह विभाग ने इसके लिए राज्य पुलिस मुख्यालय को 2.29 करोड़ रुपए उपलब्ध करा दिए हैं। सीएम को 'जेड प्लस' और एनएसजी की सुरक्षा पहले से उपलब्ध है। अब नए उपकरणों से सीएम की सुरक्षा अभेद्य होगी।

खरीदे जा रहे हथियार मोटोरोला वॉइस डूसर : यह मोबाइल पर होने वाली बातचीत में इंटरसेप्ट करता है। इससे मोबाइल फोन पर किसी भी बातचीत को न केवल सुना जा सकता है बल्कि उसे रिकॉर्ड भी किया जा सकता है।

सैटेलाइट फोन : सीएम के सुरक्षा दस्ते में पांच सैटेलाइट फोन होंगे। ये फोन बिना किसी मोबाइल नेटवर्क और टावर के काम करेंगे। जिसका सीधा संपर्क सेटेलाइट के माध्यम से होगा। इस फोन से किसी भी दुर्गम स्थान से संपर्क साधा जा सकता है।

एलईडी ड्रैगन लाइट : आठ एलईडी ड्रैगन लाइट खरीदी जा रही है। इसका यूज सिग्नल देने और दूरी से ही अत्याधुनिक हथियारों से निशाना साधने की क्षमता का विस्तार होगा।

टेलीस्कोप : एसएसजी के लिए दस टेलीस्कोप खरीदी जा रही है। इसकी मदद से अत्याधुनिक गन से अचूक निशाना लगाने के साथ दूर की सभी गतिविधियों को आसानी से देखा जा सकता है। इससे सुरक्षा दस्ते की दूर से खतरे को भांपने की क्षमता बढ़ेगी।

वायरलेस टेक्निकल ऑब्जर्वर कैमरा : ऐसे पांच कैमरे खरीदी जा रही है। यह कैमरा विस्फोट और पथराव जैसी स्थिति में भी काम करने में सक्षम है।

डी बगिंग उपकरण : दो डी बगिंग खरीदी जा रही है। इससे छुपाकर रखे गए हथियारों और विस्फोटकों की पहचान कर उसे नष्ट किया जा सकता है। खुफिया कैमरे और डिटेक्टर की भी पहचान हो सकती है।