BREAKING: कोर्ट का हनीप्रीत को 12 घंटों के अंदर सरेंडर का आदेश

प्रभाकर मिश्रा, नई दिल्ली (26 सितंबर): हनीप्रीत की अग्रिम जमानत की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए उसे 12 घंटों के अंदर सरेंडर करने को कहा है। वहीं उसकी जमानत पर कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है।

हनीप्रीत ने अपनी पिटीशन में कहा है कि हरियाणा में उसकी जान को खतरा है। इससे पहले हनीप्रीत के वकील ने दावा कि था कि सोमवार को हनीप्रीत दिल्ली में ही थी। उन्होंने यह भी कहा कि कोर्ट कहे तो वे उसे दो घंटे में पेश कर सकते हैं। इसके बाद पुलिस ने हनीप्रीत की तलाश में दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में डेरा की प्रॉपर्टी पर छापा मारा, लेकिन वो नहीं मिली।

कोर्ट, पुलिस और हनीप्रीत के वकील के तर्क - सुनवाई के दौरान कोर्ट ने हनीप्रीत के वकील से पूछा कि क्या इस पिटीशन पर सुनवाई उसके अधिकार क्षेत्र में आती है? - हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत के दिल्ली हाईकोर्ट में पिटीशन लगाए जाने को गलत बताया। - दिल्ली हाईकोर्ट ने हनीप्रीत के वकील से पूछा कि वे पंजाब-हरियाणा कोर्ट क्यों नहीं गईं? - पिटीशन में हनीप्रीत ने कहा है कि हरियाणा में उसकी जान को खतरा है। वहां नशे के कारोबारियों से उसे धमकी मिल रही है। - सुनवाई के दौरान हनीप्रीत के वकील ने यह भी कहा हनीप्रीत का घर दिल्ली में ही है। उसको गिरफ्तारी का खतरा है। अगर कोर्ट इजाजत दे तो वे उसे 2 घंटे में पेश कर सकते हैं। - दिल्ली हाईकोर्ट ने हनीप्रीत के वकील से पूछा है कि आपने दिल्ली में अग्रिम जमानत की याचिका क्यों दायर की है। - अदालत ने भी पूछा है कि अगर आपको जान का खतरा है तो दिल्ली में आत्मसमर्पण क्यों नहीं करतीं।