बच्चों को भारी बैग से मुक्ति‍ दिलाने के लिए बच्चे ने दिया धरना

नागपुर (3 अक्टूबर): भारी स्कूल बैग से बच्चों को मुक्ति दिलाने के लिए 12 साल के बच्चे ने अनोखा तरीका निकाला है। महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले के एक बच्चे ने दो अक्टूबर यानी महात्मा गांधी की जयंती पर इसके लिए धरना दिया।

विद्यानिकेतन स्कूल से पढ़ाई कर रहा रुगवेद रैकवार ने दो अक्टूबर यानी गांधी जयंती के दिन नागपुर शहर के सांघवी चौक पर यह आंदोलन किया। छात्र ऐसा करके राज्य प्रशासन का ध्यान इस मुद्दे की ओर खींचना चाहते था क्योंकि इससे न केवल बच्चों को परेशानी होती है बल्कि उनके स्वास्थ्य पर भी बुरा असर होता है।

रुगवेद ने कहा कि इस मुद्दे को हल करने के लिए बस्ते का वजन कम करना सबसे ज्यादा जरुरी है। इससे पहले रुगवेद राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस को एक खत भी लिख चुके हैं। छात्र ने कहा कि 15 दिन का समय इस मुद्दे का हल करने के लिए पर्याप्त है, लेकिन अब तक कुछ भी नहीं किया गया है। छात्र का कहना है कि स्कूल प्रशासन को रोजाना उपयोग होने वाली किताबों का प्रबंध स्कूल में ही करना चाहिए।

बंबई उच्च न्यायालय के निर्देंशों के अनुसार राज्य सरकार ने बोझ कम करने के लिए एक समिति की सिफारिशों के अनुसार दिशा-निर्देश भी जारी किए थे। राज्य ने न्यायालय को सूचित किया था कि दिशानिर्देश नहीं मानने वाले प्रधानाध्यापक और स्कूल प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सरकारी वकील के अनुसार राज्य में 1.06 लाख स्कूल हैं जो इस दिशा निर्देश से बंधे हुए हैं।