जल प्रलय ने बिगाड़ा रसोई का बजट, आसमान छू रहे सब्जियों के दाम

Image Source Google

दीपक दुबे न्यूज 24 ब्यूरो, मुम्बई(23 अगस्त): मानसूनी बारिश इन दिनों लोगों के लिए परेशानी का सबब बनी हैं। लगातार हो रही बारिश से देश की कई बड़ी नदियां उफान पर बह रही हैं। वहीं, बारिश से लोगों को दोहरी मार झेलने गड़ रही है। अब इस जल प्रलय से सब्जियों के दाम भी लोगों की कमर तोड़ रहे हैं। सब्जियों के दाम बढ़ने की असली वजह हैं बाढ़, क्योंकि बाढ़ की वजह से फसलें काफी नष्ट हो चुकी हैं, जो सब्जियां बची है वो काफी महंगी हो चुकी है। अगर ऐसी ही बारिश के हालात रहे तो अभी और भी सब्जियों के दाम बढ़ोतरी देखने को मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। दाम बढ़ने से गृहणियों के किचन का बजट बिगड़ता ही जा रहा है। टमाटर के दाम एकाएक आसमान छू गए और टमाटर जो पहले 40 रुपए किलो था, वह दोगुना होकर 80 रुपए किलो पहुंच गया है। शिमला मिर्च के दाम भी 40 से बढ़कर 60 रुपए प्रतिकिलो हो गए है। यहां तक प्याज व खीरे की कीमतों में भी इजाफा हुआ है। इसका मुख्य कारण हाल ही में हुई भारी बारिश से मची तबाही माना जा रहा है, जिससे मंडियों में सब्जी र्प्याप्त मात्रा में नहीं पहुंच पा रही है, वहीं स्थानीय सब्जियां पहाड़ी क्षेत्र के मार्ग अवरुद्ध होने के कारण मार्केट में उपलब्ध नहीं हो पा रहीं हैं। जानकारी के अनुसार सब्जियों के दामों में एकाएक हुई वृद्धि से गृहिणियों की रसोई का जहां बजट खराब कर रहा है, वहीं लोगों की जेबें भी ढीली कर रहा है।

अधिकतर सब्जियों के दाम दोगुना हो चुका है

सब्जी            प्रति किलो/रुपये 

प्याज             20-40

भिंडी             60-100  

कुंदरू             60-120  

फनसी            60-200

 गवार           60-120

मटर             80-100  

लौकी            40-80

गोभी            60-100

गाजर            40-80

गृहणियां काफी परेशान नजर आयी। सब्जी मार्केट में सब्जियों का जायजा लिया संवादाता दीपक दुबे ने। दुकानदारों के मुताबिक बाढ़ की वजह से सब्जियां कम आ रही है, यहीं वजह है अब अचानक सभी सब्जियों के दाम बढ़ने शुरू हो चुके हैं आने वाले समय मे और भी दाम बढ़ेंगे।