तेलंगाना में गर्मी से 66 लोगों की मौत

नई दिल्ली (7 अप्रैल): अप्रैल महीना से ही गर्मी ने अपना भयंकर रूप दिखाना शुरू कर दिया है। देश के कई हिस्‍सों में सूखे को लेकर हाहाकार मचने लगा है। महाराष्ट्र में पीने के पानी को लेकर गंभीर स्थिती बनी हुई तो वहीं तेलंगाना में भीषणा गर्मी जानलेवा साबित हो रही है।

तेलंगाना में गर्मी से 6 अप्रैल तक 66 लोगों की मौत हो गई है। तेलंगाना सरकार के अनुसार सबसे अधिक महबूबनगर जिले में 28 लोगों की मौत हुई हैं।

बुंदेलखंड में मचा हाहाकार मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिले में पानी का संकट है। सूबे में 32 हजार हैंडपम्प बंद हो चुके हैं। 12 हजार से अधिक नल-जल योजनाएं सीधे तौर पर बंद हो गई हैं। प्रदेश की करीब 200 तहसीलों सूखाग्रस्त और 82 नगरीय निकायों में भी गम्भीर पेयजल संकट का सामना कर रहे हैं। टीकमगढ़ की नगर पालिका के चेयरमैन लक्ष्मी गिरि ने बताया कि किसान पानी न चुरा पाएं, इसलिए हमने लाइसेंसी हथियार शुदा 10 गार्ड तैनात किए हैं।

कैदियों को किया जा रहा शिफ्ट लातूर और बीड में तो पानी की किल्लात से हालात इतने भयावह होते जा रहे हैं कि यहां की जेल से कैदियों को राज्य के दूसरे इलाकों में शिफ्ट किया जा रहा है। मुताबिक़ लातूर जेल में पानी महीने में एक ही बार आ रहा है। महाराष्ट्र का जेल विभाग बीड और लातूर की जेल से कम से कम 200 कैदियों को नासिक और धुले स्थानांतरित कर रहा है।