जिंदा बच्चे को बताया मृत, रद्द हो सकता है मैक्स अस्पताल का लाइसेंस

जिंदा बच्चे को बताया मृत : दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, दोषी पाए जाने पर रद्द हो सकता है अस्पताल का लाइसेंस

नई दिल्ली (03 दिसंबर): शालीमार बाग स्थित मैक्स अस्पताल के जिंदा बच्चे को मृत बताने के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर पीड़ित परिवार धरने पर बैठ गया है। आपको बता दें कि शालीमार बाग के मैक्स अस्पताल द्वारा 2 जुड़वां बच्चों को प्रीमैच्योर डिलीवरी यानि समय से पहले हुई डिलीवरी के बाद दोनों बच्चों को मृत घोषित कर अंतिम संस्कार के लिए सौंप दिया गया, लेकिन इनमें से एक बच्चे के शरीर में हरकत होने के बाद उसे जिंदा पाकर परिवार ने मैक्स अस्पताल पर भारी लापरवाही का आरोप लगाया।

अब केंद्र से लेकर दिल्ली सरकार इस मामले को लेकर हरकत में हैं। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने जरूरत पड़ने पर अस्पताल का लाइसेंस रद्द करने की भी बात कही है। दिल्ली सरकार ने 'आपराधिक लापरवाही' की जांच के आदेश दे दिए हैं और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कड़ी कार्रवाई करने का वादा किया है। दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने भी मामले का संज्ञान लिया है और इसकी जांच करने का निर्णय किया है।

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के हस्ताक्षर से जारी आदेश में कहा गया है कि उक्त घटना के सिलसिले में जांच होगी और 72 घंटे के अंदर प्रारंभिक जांच रिपोर्ट सौंपी जाएगी और एक हफ्ते के अंदर अंतिम रिपोर्ट सौंपी जाएगी।