रोज खाएं चॉकलेट और इस बीमारी से पाएं निजात

नई दिल्ली (7अगस्त): चॉकलेट खाना ज्यादातर लोगों पसंद होता है। इसका नाम लेते ही मुंह में पानी आ जाता है। कोको से बनी चॉकलेट लंबे समय तक दक्षिणी अमेरिका के मूल निवासियों में भगवान के भोजन 'फूड्स ऑफ द गॉड' के रूप में जानी जाती रही है। अपने गुणों और स्वाद की वजह से यह 100 वर्ष पहले से ही स्वादिष्ट पेय और चॉकलेट बार के रूप में प्रसिद्ध रही है। 

पूरी दुनिया में चॉकलेट प्रेमी जानते हैं कि चॉकलेट मूड अच्छा रखती है और तनाव भी दूर करती है। इसके अलावा एक शोध में ये बात सामने आई कि जो लोगों को आंत संबंधी कोई समस्या है तो चॉकलेट का सेवन करें। 

प्रोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थ जैसे बादाम, अंडे, बीज, फलियां, मांस, दही, चीज और यहां तक कि चॉकलेट खाने से भी आंत के रोग से परेशान लोगों को राहत मिल सकती है। एक शोध में यह पता चला है।

शोध का निष्कर्ष बताता है कि जिन खाद्य पदार्थो में ट्रिप्टोफैन की पर्याप्त मात्रा होती है, उसमें मौजूद अमीनो एसिड प्रोटीन का निर्माण करता है। ऐसे खाद्य पदार्थ जब चूहे को खाने के लिए दिया गया तो उसमें ऐसी प्रतिरक्षी कोशिकाओं का विकास हुआ, जो पेट की गड़बड़ियों को दूर करती हैं।

अमेरिका के सेंट लुइस स्थित वाशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसीन के द रार्बट रॉक बेलिवेयू के प्रोफेसर मार्को कोलोना का कहना है, "हमने जीवाणुओं की प्रजाति के बीच में एक संबंध जोड़ने में सफलता प्राप्त की है। लैक्टोबारिसल रेयूटेरी पेट में पाए जानवाले जीवाणुओं में काफी सामान्य है और इसकी संख्या बढ़ने पर आंत संबंधी रोगों से बचाव होता है।"

-उन्होंने कहा, "चूहों को भोजन में जितना ज्यादा ट्रिप्टोफैन दिया गया, उनकी प्रतिरोधक क्षमता में उतनी ज्यादा बढ़ोतरी देखी गई।"

-यह शोध साइंस जर्नल में प्रकाशित किया गया है।

-मनुष्यों में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली कोशिकाएं चूहों की कोशिकाओं जैसी ही होती हैं।