UP Election 2022: CM योगी ने पेश किया अपने 5 सालों का रिपोर्ट कार्ड, बोले- 70 साल का तोड़ दिया रिकॉर्ड

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी घमासान जोरों पर है। तमाम दलों के नेता अपने-अपने तरीके से वोटरों को रिझानें में जुटे हैं। इसी कड़ी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार के 5 सालों का रिपोर्ट कार्ड पेश किया।

UP Election 2022: CM योगी ने पेश किया अपने 5 सालों का रिपोर्ट कार्ड, बोले- 70 साल का तोड़ दिया रिकॉर्ड
x

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी घमासान जोरों पर है। तमाम दलों के नेता अपने-अपने तरीके से वोटरों को रिझानें में जुटे हैं। इसी कड़ी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार के 5 सालों का रिपोर्ट कार्ड पेश किया। इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में 70 सालों में जो काम नहीं हुआ उसे उनकी सरकार ने पांच साल में पूरा कर दिया।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि 'बीते 5 साल में भाजपा सरकार ने क्या किया है, ये बताना मेरा परम दायित्व है।' उन्होंने कहा कि 'बीते 5 साल में यूपी ने कुछ मील के पत्थर भी गढ़े हैं। यूपी की अर्थव्यवस्था सातवें स्थान पर थी और 70 सालों में जो काम नहीं हुआ, उसे हमने 5 साल में 2 नंबर पर लाने में सफलता प्राप्त की।



यूपी की प्रतिव्यक्ति आय 45 हजार वार्षिक थी, ये बढ़कर अब 94 हजार हो गई है। 2015-18 में वार्षिक बजट 2 लाख करोड़ था, ये अब 6 लाख करोड़ हो गया है।'



और पढ़िए – Up Elections 2022: बुलंदशहर में अखिलेश यादव बोले- यूपी में कानून व्यवस्था खराब, सरकार आने पर सपा सभी वादे करेगी पूरे




सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना चुनौती बनकर पूरी दुनिया के सामने आई। यह जीवन और जीविका दोनों के लिए चुनौती थी। यह हमारा सौभाग्य है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत का कोविड प्रबंधन दुनिया के लिए एक नजीर बना। जीवन और जीविका को बचाने में बेहतरीन अनुभव काम आए और दुनिया ने उसको सराहा। 


केंद्र सरकार ने जो गाइडलाइन जारी की। पीएम मोदी देश के अलग-अलग राज्यों से संवाद भी रखते थे और हर एक चीज की जानकारी रखते थे। उसी का परिणाम है कि कोविड प्रबंधन में यूपी सबसे बेहतरीन परिणाम देने में सफल रहा। यूपी के 18 वर्ष से अधिक उम्र के हर व्यक्ति को कोविड वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। डबल डोज लेने वाले 70 फीसदी से अधिक लोग हैं। 






पहली लहर के बाद कई तरह की चुनौती सामने आई। लॉकडाउन के दौरान उन्हें सुरक्षित घर तक पहुंचाने का जिम्मा हो या अन्य चीजें सभी को सरकार ने पूरी प्रतिबद्धता के साथ किया। यूपी में 551 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट की भी स्थापना की गई। दूसरी लहर पर भी यूपी ने विजय हासिल की और तीसरी लहर पर भी पूरी तरह से नियंत्रण है। 




और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

 



Next Story