HDFC का झटका, बचत खातों पर बढ़ाया कैश ट्रांजैक्शन चार्ज

मुंबई (4 फरवरी): देश के दूसरे सबसे बड़े बैंक HDFC ने बचत खातों पर कैश ट्रांजैक्शन चार्ज बढ़ाने का फैसला किया है। HDFC बैंक ने 1 मार्च से कुछ ट्रांजैक्शन पर फी बढ़ाने का फैसला किया है। साथ अन्य मामलों में नकदी की सीमा तय करने और कुछ ट्रांजैक्शन पर शुल्क लगाने का निर्णय किया है। दरअसल बैंक ने ये फैसला कैश के ट्रांजैक्शन को कम करने और डिजिटल इकोनॉमी को बढ़ावा देने के मकशद से किया है।

बैंक की वेबसाइट के अनुसार थर्ड पार्टी ट्रांजैक्शन प्रति दिन 25,000 रुपये की सीमा तय की है। साथ ही शाखाओं में फ्री ट्रांजैक्शन की संख्या पांच से कम कर चार कर दी और नॉन-फ्री ट्रांजैक्शन के लिए फी भी 50 प्रतिशत बढ़ाकर 150 रुपये कर दिया है। इससे पहले प्रतिदिन निकासी और जमा दोनों में 50,000 रुपये के कैश ट्रांजैक्शन की अनुमति थी। 

नयी फी पॉलिसी सिर्फ सैलरी और सेविंग्स अकाउंट्स के लिए लागू होगी। साथ ही बैंक ने होम ब्रांचेज में भी फ्री कैश ट्रांजैक्शन दो लाख रुपये पर सीमित कर दिया है। इसमें जमा और निकासी शामिल हैं। इसके ऊपर ग्राहकों को न्यूनतम 150 रुपये या पांच रुपये प्रति हजार का भुगतान करना होगा। वहीं, दूसरी शाखाओं में मुफ्त लेन-देन 25,000 रुपये है। उसके बाद शुल्क उसी स्तर पर लागू होगा।