BREAKING: दिवंगत हवलदार हंगपन दादा को मिला 'अशोक चक्र'

नई दिल्ली (14 अगस्त): हिमालयन रेंज में उत्तर कश्मीर की बर्फीली पहाड़ियों में 13,000 फीट की ऊंचाई पर दिवंगत हवलदार हंगपन दादा ने अपनी बहादुरी और जज्बे का असीम प्रदर्शऩ करते हुए अपनी जान दांव पर लगाकर 4 घुसपैठी आतंकियों को मार गिराया था। उनकी इस बहादुरी के लिए मरणोपरांत अशोक चक्र प्रदान किया गया है।

- स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर रविवार को दादा के लिए सेना का सर्वोच्च सम्मान दिया गया। 

- 36 वर्षीय दादा ने देश के लिए इसी साल 27 मई को अपनी कुर्बानी दी थी।