झारखण्ड का भूतिया गांव, एक अफवाह फैली और पूरा गांव खाली

नई दिल्ली (26 अगस्त): झारखंड के लातेहार जिले का एक गांव  पिछले 20 दिन से पूरी तरह खाली है। यहां के करीब 60 लोग गांव से पलायन कर गए हैं। इस गांव का नाम है खीराखांड़। हेरहंज प्रखंड की सलैया पंचायत के इस गांव के छह लोगों की किसी अज्ञात बीमारी से मौत हो गयी। इसी बात पर किसी ने अफवाग फैला दी कि यहां भूत ने डेरा डाल दिया है।

परहिया जनजाति के ग्रामीणों ने इसी अफवाह को सच माना और गांव खाली करके चले गये। गांव में केवल स्कूल का मकान ही पक्का है। बाकी सभी घर फूस के हैं। यह गांव लातेहार, चतरा और पलामू की सीमा पर जंगल और पहाड़ से घिरा है। नक्सली सबजोनल कमांडर बीरबल परहिया इसी गांव का है। वह छह माह पहले गिरफ्तार किया जा चुका है।

इसी गांव की एक लड़की सोहगिल परहिन की शादी दूसरे गांव केकरगढ़ में हुई है। वो हर साल बारिश के दिनों में अपने माता-पिता से मिलने मायके आती थी। इस बार जब वो मायके आयी तो उसके परिवार समते पूरा गांव खाली था। मां-बाप से न मिलने से दुखी सोहगिल भीगी आंखों को लेकर कुछ देर अपने फूस के घर के आगे बैठी रही और फिर उठ कर चल दी...!