न्यूज 24 एक्सक्लूसिव: कुएं के पानी का चमत्कार या अंधविश्वास

प्रशांत गुप्‍ता, हाथरस (4 अप्रैल): दिल्ली से केवल तीन घंटे की दूरी पर हजारों लोगों की भीड़ लगी है। हर कोई एक कुएं के पास पहुंचना चाहता है, क्योंकि वो सालों तक सूखा रहने के बाद लबालब भर गया है। अब सबकी जुबान पर बस एक ही सवाल है कि सूखे कुएं में कैसे आ गया पानी।

हाथरस का कुआं पूरे इलाके में लोगों की आंखों में एक उम्मीद की चमक दिखा रहा है। हर किसी में कुएं के पानी से नहानी की होड़ लगी है। हर कोई कुएं के इस पानी को चमत्कारी पानी मान रहा है। जिससे बीमारियों के दूर होने का दावा किया जा रहा है। जैसे-जैसे चमत्कार की खबर फैल रही है, वैसे-वैसे आस्था का सैलाब भी उमड़ता जा रहा है। आलम ये है कि भीड़ को कंट्रोल करना भी मुश्किल हो रहा है।

दावा किया जा रहा कि बरसों से सूखे पड़े कुएं से अचानक पानी निकलने लगा। ग्रामीणों का मानना है कि कुएं के पानी से नहाने पर उनकी बीमारियां ठीक हो रही हैं। बताया जा रहा है कि महिला कुएं में राम लक्ष्मण सीता की एक खण्डित प्रतिमा डालकर चली गई थी और उसके बाद ही कुएं के पानी से बीमारी के ठीक होने की खबर फैली।

महिला के प्रतिमा डालने के बाद लोगों का दावा है कि कुंए से धुआं निकलना शुरू हो गया। कुएं से धुआं निकलता देख जब लोग इसके पास पहुंचे तो देखकर हैरान रह गए। कुएं से शुद्ध पानी निकल रहा था और लोगों ने जब इससे नहाना शुरू किया तो उनकी बीमारी दूर हो गई। इस चमत्कार के बाद गांव में भजन शुरू हो गया है, राम चरित मानस का पाठ हो रहा है।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=pIcljOWBblE[/embed]