हसन रूहानी दूसरी बार बने ईरान के राष्ट्रपति

नई दिल्ली ( 20 मई ): हसन रूहानी को ईरान का एक बार फिर राष्ट्रपति चुना गया है। हाल ही में हुए राष्ट्रपति चुनाव में रूहानी को जीत मिली है और वह दोबारा ईरान के राष्ट्रपति बने हैं। स्टेट टेलिविजन ने इस बात की जानकारी दी है। रूहानी इससे पहले 2013 में चुनाव जीतकर राष्ट्रपति बने थे। 4 साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद उन्हें लगातार दूसरी बार इस पद के लिए चुना गया है।


68 वर्षीय रूहानी बाहरी दुनिया के साथ ईरान के संबंध बढ़ाने के पक्षधर रहे हैं। साथ ही, कट्टरपंथी इस्लामिक कानूनों वाले ईरान में रूहानी व्यक्तिगत आजादी बढ़ाने के भी हिमायती रहे हैं। ईरान में उदारवादी और सुधार की मांग करने वाला धड़ा रूहानी का समर्थक माना जाता है। लोगों को उम्मीद है कि रूहानी के नेतृत्व में जनता की राजनीतिक हिस्सेदारी बढ़ेगी। साथ ही, आर्थिक प्रतिबंधों के कारण लंबे समय तक खस्ताहाल रही ईरान की अर्थव्यवस्था के सुधरने की भी उम्मीद है।


उम्मीद की जा रही है कि रूहानी के कार्यकाल में बाहरी दुनिया के साथ ईरान के संबंध सुधरेंगे। मालूम हो कि रूहानी के ही कार्यकाल में अमेरिका और ईरान के बीच परमाणु समझौता हुआ। दोनों देशों के आपसी संबंधों के सामान्य होने की दिशा में यह न्यूक्लियर डील बहुत बड़ा कदम माना जा सकता है।


वोटों की शुरुआती गणना में भी रूहानी करीब 28 लाख मतों के साथ आगे थे। अधिकारियों के मुताबिक, हालिया चुनावों में करीब 4 करोड़ लोगों ने मतदान किया।