VIDEO: स्टंट वाला गड्ढा बन गया कब्र

प्रवीण भारद्वाज, पानीपत (29 जून): हैरतअंगेज करतब दिखाने उसका जुनून था तो बीमार पिता का इलाज कराने का एक जरिया भी था। लेकिन उसे पता नहीं था कि ये जुनून ही एक दिन उसकी जान ले लेगा। 17 साल का एक लड़का दस दिन तक साइकिल पर स्टंट करता रहा। खेल के आखिरी दिन उसे पांच फीट गहरे गड्ढे में डाल दिया गया। दावा था कि वो 24 घंटे बाद भी गड्ढे से जिंदा निकलेगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं और बाहर उसकी लाश आई।

जानलेवा स्टंट की सन्न कर देने वाली ये कहानी हरियाणा के पानीपत की है। यहां 6 से 7 युवकों की एक टीम साइकिल स्टंट दिखाने का काम करती है। इन्हीं में शामिल था-पानीपत के गांव कुराड़ का रहने वाला 17 साल का सुमित। साइकिल से स्टंट करने वाली ये टीम पिछले 10 दिनों से समालखा में स्टंट दिखा रही थी।

खेल के आखिरी दिन स्टंटबाजों के सिर पर जानलेवा जुनून दिखाने भूत सवार हो गया। ऐलान हुआ कि सुमित को चौबीस घंटे के लिए जमीन में दफ्नाया जाएगा, लेकिन उसे कुछ नहीं होगा। वो 24 घंटे बाद जिंदा बाहर आया गया। जमीन में पांच फीट गहरा गड्ढा खोदा गया। उस वक्त इमोशनल म्यूजिक बज रहा था। गड्ढे में जाने से पहले सुमित ने कुछ इसी तरह से अपने दोस्तों से मुलाकात की। हाथ हिलाकर तमाशबीनों का अभिवादन स्वीकर किया और फिर दोस्तों ने उसे बोरी में बंद कर गड्ढे में डाल दिया। ऊपर से लकड़ी के फट्टे रखकर गड्ढे को बंद कर दिया गया।

इस दौरान तमाशबीन चौबीसों घंटे वहां मौजूद थे। ये देखने के लिए कि आखिर सुमित जिंदा बाहर कैसे आता है। 24 घंटे का वक्त बीता तो गड्ढे से सुमित को बाहर निकाला गया। बोरी खोली गई तो पता चला कि उसकी सांसें थम चुकी हैं। सुमित जमीन के पांच फीट नीचे था। ऊपर से वो बोरी में बंद था। उसे ऑक्सीजन नहीं मिली। गड्डे में दबे सुमित की जान चली गई और तमाशा देख रहे लोग कुछ कर नहीं पाए।

वीडियो: