हरियाणा: CM मनोहर लाल अपने नाम के साथ 'खट्टर' नहीं लगाएंगे

नई दिल्ली(23 मार्च): हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर अब अपने नाम के साथ खट्टर नहीं लगाएंगे। उन्होंने मंगलवार को विधानसभा में सभी विधायकों से उनके नाम के साथ खट्टर नहीं लगाने को कहा है। बताया जा रहा है कि वे हरियाणा में जाट आंदोलन के दौरान हुई हिंसा से बेहद आहत हैं। 

जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हुई हिंसा से संबंधित स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा में हुई हिंसा के बाद अब अगर कोई उनके नाम के साथ कोई उपनाम 'खट्टर' का प्रयोग करता है तो उन्हें अच्छा नहीं लगता है। उन्‍होंने कहा कि 1994 तक आरएसएस का प्रचारक था, उस वक्त तक कोई मेरा सरनेम नहीं जानता था। उन्होंने कहा कि आज भी मुझे अपने नाम के साथ 'खट्टर' शब्द लगाना पसंद नहीं है और मैं सिर्फ मनोहर लाल हूं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने संगठन में कभी जातिवाद नहीं देखा, यह कुरीति केवल राजनीति में है।

बता दें कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल 27 साल की उम्र में परिवार त्याग कर आरएसएस में शामिल होकर प्रचारक बन गए थे।