महिला विश्व T20: विश्व एकादश की कप्तान चुनी गईं हरमनप्रीत कौर

न्यूज 24 ब्यूरो,नई दिल्ली (25 नवंबर): टीम इंडिया की स्टार बल्लेबाज हरमनप्रीत कौर को रविवार को आईसीसी महिला विश्व ट्वेंटी20 एकादश का कप्तान चुना गया जिसमें सलामी बल्लेबाज स्मृति मंदाना और लेग स्पिनर पूनम यादव भी शामिल हैं। रविवार को समाप्त हुए टूर्नामेंट में खिलाड़ियों के प्रदर्शन के आधार पर टीम का चयन किया गया। आस्ट्रेलिया ने विश्व टी20 खिताब जीता। अंतिम एकादश में इंग्लैंड की तीन, आस्ट्रेलिया की दो तथा पाकिस्तान, न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज की भी एक एक खिलाड़ी शामिल हैं। 

टीम इस प्रकार है : एलिसा हीली (आस्ट्रेलिया), स्मृति मंदाना (भारत), एमी जोंस (इंग्लैंड, विकेटकीपर), हरमनप्रीत कौर (भारत, कप्तान), डियांड्रा डोटिन (वेस्टइंडीज), जोविरया खान (पाकिस्तान), एलिसे पेरी (आस्ट्रेलिया), लेग कास्पेरेक (न्यूजीलैंड), आन्या श्रबसोले (इंग्लैंड), क्रिस्टी गोर्डन (इंग्लैंड), पूनम यादव (भारत), 12वीं खिलाड़ी : जहनारा आलम (बांग्लादेश)।



ICC महिला टी20 वर्ल्ड कप: ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को हराकर चौथी बार जीता खिताब

महिला टी 20 क्रिकेट का ऑस्ट्रेलिया नया बादशाह बन गया है। फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को एकतरफा मुकाबले में 8 विकेट से हरा कर आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप खिताब जीत लिया है। वेस्टइंडीज के एंटीगुआ में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने 8 विकेट से जीत दर्ज की है। इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। हालांकि उनका ये फैसला गलत साबित हुआ और पूरी टीम 19.4 ओवर में सिर्फ 105 रन पर सिमट गई। ऑस्ट्रेलिया ने इस लक्ष्य को आसानी से हासिल कर लिया। ऑस्ट्रेलिया ने 15.4 ओवर में 2 विकेट खोकर 106 रन बना लिए। ऑस्ट्रेलिया की गार्डनर को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया, उन्होंने अपने 4 ओवरों में 22 रन देकर 3 विकेट झटके। वहीं एलिसा हेली को प्लेयर ऑफ द सीरीज चुना गया। भारत को सेमीफाइनल में हराकर फाइनल में पहुंची इंग्लैंड की टीम के 9 खिलाड़ी दहाई का आंकड़ा पार नहीं कर सके। इंग्लैंड की तरफ से डेनियल वाट ने सबसे ज्यादा 43 रन बनाए।


इंग्लैंड की कप्तान हीथर नाइट ने टॉस जीता और इस अहम मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। लेकिन ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने उनके फैसले को गलत साबित किया। इंग्लैंड को पहला झटका टैमी ब्यूमोंट के रूप में लगा। वह सिर्फ चार रन बनाकर मीगन शट का शिकार बनीं। उन्होंने सिर्फ चार बनाए। तब इंग्लैंड का स्कोर 18 रन था। इंग्लैंड की टीम इस शुरुआती झटके से उबर नहीं पाई। उसने नियमित अंतराल पर विकेट खोए। स्कोर में 12 रन ही और जुड़े थे जब एमी जोन्स 4 रन बनाकर रन आउट हो गईं। दूसरे छोर पर डेनियल वॉट खड़ी रहीं और सामने वाले छोर पर विकेटों का गिरना देखती रहीं। नेटली स्कीवर भी सिर्फ एक रन बनाकर एलिस पैरी की गेंद पर विकेटों के सामने पकड़ी गईं।

इंग्लैंड के तीन विकेट 41 के स्कोर पर गिर चुके थे। वॉट का साथ देने तब कप्तान नाइट उतरीं। दोनों पर यहां से इंग्लैंड को संभालने का दारोमदार था। इसके लिए दोनों ने प्रयास भी शुरू किया। ऐश्ले गार्डनर ने इस साझेदारी को बड़ा होने से रोका। अभी तक टीम को संभाले रखने वालीं वॉट पर रनगति बढ़ाने का भी दबाव था। वह आखिर 43 रन बनाकर आउट हो गईं। उन्होंने 37 गेंदों का सामना किया और अपनी पारी में 5 चौके और एक छक्का लगाया। गार्डनर की गेंद में फ्लाइट देखकर वॉट खुद को रोक नहीं पाईं लेकिन उन्हें मनमुताबिक नतीजा नहीं मिला। एलिस विलानी ने शानदार कैच पकड़कर उनकी पारी का अंत किया। 64 में से 43 रन तो वॉट के ही थे।