सिर्फ 1 रूपए की फीस में कुलभूषण को फांसी से बचाया, जानिए कौन हैं हरीश साल्वे

Harish Salve

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 जुलाई): कुलभूषण जाधव मामले में भारत को बड़ी जीत मिली है। इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने उनकी फांसी की सजा को सस्पेंड कर दिया है साथ ही उन्हें काउंसलर एक्सेस देने को कहा है। कुलभूषण जाधव की पैरवी देश के जाने-माने वकील हरीश साल्वे कर रहे हैं। इस फैसले के बाद देश की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उन्हें शुक्रिया कहा है।बता दें कि हरीश साल्वे सिर्फ 1 रुपये फीस लेकर कुलभूषण जाधव की पैरवी कर रहे है। ये जानकारी भी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने साल 2017 में ट्वीट कर दी थी। 

khulbhushan-jdahav-

हरीश साल्वे देश के जाने-माने वकील हैं। इनका जन्म महाराष्ट्र के नागपुर में 1956 में हुआ था। हरीश ने कॉमर्स से ग्रेजुएशन करने के बाद सीए की पढ़ाई की है। इनके दादा पीके साल्वे भी फेमस वकील थे। इनके पिता नरेंद्र कुमार साल्वे कांग्रेस के नेता थे, हरीश देश के सॉलिसिटर जनरल भी रह चुके हैं।  लेकिन, हरीश साल्वे की क्लाइंट लिस्ट कानून की पढ़ाई करने वाले बच्चों के बीच कही उनकी इस बात को कई बार काटती भी दिखती है। हरीश साल्वे सर्वोच्च न्यायालय के मित्र (एमिकस क्यूरी) के तौर पर पर्यावरण से जुड़े कई मामलों में काम करते रहे। लेकिन, 2011 में अवैध खनन के मामले में उन्होंने ये कहते हुए एमिकस क्यूरी बनने से इनकार कर दिया कि पहले वो कुछएक कम्पनियों के पक्ष में पैरवी कर चुके है।

हरीश साल्वे हिट एंड रन मामले में सलमान खान को बचा लेते है।  इससे पहले वो काला धन रखने के मामले में अभिनेता दिलीप कुमार के भी तारनहार बन चुके हैं। गुजरात दंगों के मामले में हरीश साल्वे बिल्किस बानो मामले की भी पैरवी कर चुके हैं और सरकार को जब आधार मामले में सर्वोच्च न्यायालय के सामने अपना पक्ष मजबूती से रखना होता है, तो भी हरीश साल्वे ही खड़े होते हैं। बाबा रामदेव के लिए भी हरीश साल्वे खड़े होते हैं. यहां तक कि जब मेरू और दूसरी कम्पनियों ने ऐप टैक्सी सेवाओं के खिलाफ मामला दायर किया, तो उबर की तरफ से हरीश साल्वे ही अदालत में खड़े हुए। 

हरीश साल्वे ने अब तक कई हाई प्रोफाइल मामलों में वकील रहे हैं। साल्वे ने वोडाफोन के 14 हजार करोड़ के टैक्स चोरी मामले में कंपनी की ओर से पक्ष रखा था और जीत दिलाई थी। वे अंबानी भाइयों के बीच हुए रिलायंस गैस विवाद में भी मुकेश अंबानी के वकील बने थे। भोपाल गैस कांड के बाद गैर इरादतन हत्या मामले की सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान वे केशव महिंद्रा के वकील बने थे। शीर्ष अदालत ने इस केस में महिंद्रा और उनके 7 अधिकारियों को हत्या के आरोपों से बरी कर दिया। हरीश साल्वे एक सुनवाई के 30 लाख रुपये लेते हैं। 

(Images Courtesy: Google)