उत्तराखंड : रावत 11 को साबित करेंगे बहुमत, बागी रहेंगे सदन से बाहर

प्रभाकर मिश्रा, नई दिल्ली (6 मई): उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाने पर केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। मामले की सुनवाई के बाद कोर्ट ने हरीश रावत को बहुत साबित करने का मौका दे दिया है। इतना ही नहीं कोर्ट ने सभी बागी नौ विधायकों को शक्ति परीक्षण से बाहर रखा है। विधानसभा में यह शक्ति परीक्षण 11 मई को किया जाएगा। 

उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के मामले की सुनवाई के दौरान केंद्र ने कहा कि सरकार सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में शक्ति परीक्षण कराने को तैयार है।हरीश रावत बहुमत साबित करें। इसके बाद कोर्ट ने कहा कि उत्तराखंड विधानसभा में बहुमत परीक्षण 10 मई को कराया जाएगा। इसमें 9 बागी विधायकों को वोट डालने का मौका नहीं मिलेगा। 

न्यूज़24 से बता करते हुए विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने कहा कि आदेश की प्रति मिलने के बाद साफ हो पाएगा कि सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में परीक्षण किस तरह से होगा। परीक्षण के दौरान के फैसले कौन लेगा? उधर, फैसला आने के बाद माना जा रहा है कि यह रावत के लिए बड़ा राहत है और केंद्र के लिए बड़ा झटका। (साथ में राजीव रंजन)