SC में लिफाफा खुलने से पहले ही केंद्र ने कह दिया- हम राष्ट्रपति शासन हटा रहे हैं

नई दिल्ली (11 मई): उत्तराखंड से राष्ट्रपति शासन हटेगा। हरीश रावत ने अपना बहुत साबित कर दिया है। बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट में लिफाफा खुलने से पहले ही अटॉर्नी जनरल ने कह दिया कि हम उत्तराखंड से राष्ट्रपति शासन हटा रहे हैं।

हालांकि, लिफाफा खुलने के बाद साफ हो गया कि हरीश रावत को 61 में से 33 वोट मिले हैं, जबकि बीजेपी को 28। कोर्ट ने कहा कि शक्ति परीक्षण में किसी भी तरह की गड़बड़ी नहीं हुई है। कोर्ट ने यह भी कहा कि नौ विधायकों को उनकी अयोग्यता की वजह से वोट डालने का मौका नहीं मिला।

बता दें कि मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में उत्तराखंड में शक्ति परीक्षण हुआ था। शक्ति परीक्षण के नतीजों को सील बंद लिफाफे में सुप्रीम कोर्ट को सौंप दिया गया। इस लिफाफे को आज कोर्ट में खोला जाएगा।

इसके बाद आधिकारिक तौर पर नतीजे की तस्वीर साफ हो जाएगी। हालांकि, फ्लोर टेस्ट के बाद कांग्रेसी नेताओं ने जीत का दावा किया। फ्लोर टेस्ट के बाद हरीश रावत ने कहा था कि अंदर क्या हुआ इस पर कोई कॉमेंट नहीं करेंगे, लेकिन अनिश्चितता के बादल जल्द ही हट जाएंगे।

बीजेपी विधायकों ने कांग्रेस पर विधायकों को जुटाने के लिए धनबल का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है। वहीं कांग्रेस ने कहा है कि राज्य में सच की जीत हुई है।