जिग्नेश के बाद हार्दिक का सुरक्षा लेने से इनकार, कहा- जासूसी का डर

अहमदाबाद (6 नवंबर): जिग्नेश मेवाणी के बाद हार्दिक पटेल ने भी सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया है। हार्दिक पटेल का कहना है कि बीजेपी मुझपर नजर रखने के लिए पुलिसकर्मी लगाना चहाती है। सरकार मेरी सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों के जरिए जासूसी कराना चाहती है। हार्दिक ने कहा कि इतिहास गवाह है कि बीजेपीकिसी की भी जासूसी करवाने में काफी माहिर है। बीजेपी द्वारा एक महिला की जासूसी के बारे में पूरा देश जानता है। हार्दिक ने कहा कि पुलिस ने उसे कहा कि आईबी की रिपोर्ट के बाद सुरक्षा मुहैया करवाई जा रही है। 

हार्दिक ने कहा कि मुझे किसी तरह की सुरक्षा नहीं चाहिए। साथ ही उसने कहा कि वह कांग्रेस में शामिल नहीं होने जा रहे हैं लेकिन अगर पार्टी आरक्षण के मुद्दे पर अपना फैसला साफ करती है तो हम उनका समर्थन जरूर करेंगे।

गौरतलब है कि इससे पहले दलित नेता जिग्नेश ने भी सुरक्षा लेने से इंकार करते हुए कहा कि उन्हें यह सुविधा इसलिए दी जा रही है ताकि उनकी हर मूवमेंट पर नजर रखी जा सके। जिग्नेश के साथ दो सुरक्षाकर्मी रहते हैं। इस पर उसने कहा कि सरकार को डर है कि कहीं मुझपर हमला हो गया तो इससे बदनामी उसी की होगी लेकिन उन्हें सुरक्षा की जरूरत नहीं है।