तीन बच्चों को कुएं में फेंकने के बाद महिला ने भी कूदकर दी जान

नई दिल्ली (25 मई): महाराष्ट्र के मराठवाड़ा से एक और दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक महिला ने कथित तौर पर पैसों को लेकर ससुराल वालों के परेशान करने पर अपने तीन नाबालिग बच्चों को कुएं में फेंक दिया। इसके बाद खुद भी इसमें कूदकर जान दे दी। पुलिस ने बुधवार को इसकी जानकारी दी है।

रिपोर्ट के मुताबिक, नांदेड़ जिले के बेतसावंगी गांव की रहने वाली प्रियंका बालाजी बाणखेड़े की शादी 9 साल पहले हुई थी। सोमवार को प्रियंका ने अपने तीन बच्चों प्रतीक (उम्र तीन साल), कपिल (5 साल) और साक्षी (7 साल) को कुएं में धक्का देकर फेंक दिया। सोनखेड़ पुलिस स्टेशन के एक पुलिस अधिकारी ने बताया, "प्रियंका के भाई ने बताया कि ससुराल वाले उसे प्रताड़ित कर रहे थे। उससे अपने माता पिता के यहां से एक लाख रुपए लाने के लिए मजबूर कर रहे थे।"

प्रियंका के पति बालाजी वाणखेड़े, ससुर गणपत वाणखेड़े और सास लीलावती वाणखेड़े को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस ने बताया कि भारतीय दंड संहिता की धारा 306 (खुदकुशी के लिए मजबूर करने) और 498 (पति के रिश्तेदारों की तरफ से निर्दयता होना) के तहत मामला दर्ज किया गया है। तीनों आरोपियों को मंगलवार को स्थानीय अदालत के समक्ष पेश किया गया। जिन्हें 5 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा गया है। 

प्रियंका और उसके बच्चों का मंगलवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया।