हनुमान जयंती: बजरंग बली की पूजा करते वक्‍त रखें इन बातों का ध्‍यान

नई दिल्ली(31 मार्च): देशभर में आज हनुमान जयंती धूमधाम से मनाई जा रही है। हनुमान भक्‍तों के ल‍िए इस पर्व का व‍िशेष महत्‍व है। ऐसी मान्‍यता है कि चैत्र महीने को पूर्णिमा के दिन भगवान हनुमान ने माता अंजना की कोख से जन्‍म लिया था।

-  आज के दिन भक्‍त अपने आराध्‍य परम बलशाली हनुमान को प्रसन्‍न करने के लिए दिन भर व्रत रखते हैं और उनकी पूजा-अर्चना करते हैं। वैसे तो हनुमान जी बड़े दयालू हैं और अपने भक्‍तों की मदद के लिए हमेशा तत्‍पर रहते हैं, लेकिन फिर भी हनुमान जयंती के दिन उन्‍हें प्रसन्‍न करने के लिए कुछ खास नियमों का ध्‍यान रखना बेहद जरूरी है।

- रखें शुद्धता का ध्‍यान  हनुमान जी की पूजा में शुद्धता का बड़ा महत्‍व है। नहाने के बाद साफ-धुले कपड़े ही पहनें। अगर हो सके तो इस दिन कोरे या नए कपड़े पहनने चाहिए। मान्‍यता है कि इस दिल काले रंग के कपड़े पहनकर पूजा नहीं करनी चाहिए। हनुमान जी को लाल रंग प्रिय है। पूजा करते समय लाल या पीले रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है। इसके अलावा ब्रह्मचर्य का पालन भी करें।

- नमक का सेवन न करें जो भक्‍त व्रत रख रहे हैं उन्‍हें हनुमान जयंती के दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए। मान्‍यता है कि अगर इस दिन मिठाई का दान कर रहे हैं तो स्‍वयं उस मिठाई को न खाएं। 

- मांस या मदिरा से दूर रहें हनुमान जयंती के दिन मांस या मदिरा का सेवन न करें। अगर व्रत रख रहे हैं तो किसी भी सूरत में इन चीजों से दूर रहें। अगर व्रत नहीं कर रहे हैं तब भी मांस-मदिरा का त्‍याग करें। इन चीजों का सेवन करने के बाद न तो हनुमान जी की पूजा करें और न ही उनके मंदिर जाएं। 

- अगर सूतक है तो हनुमान जयंती के दिन न तो हनुमान जी का व्रत रखें और न ही उनकी पूजा करें। गौरतलब है कि जब घर में किसी की मौत हो जाती है या बच्‍चे का जन्‍म होता है तो सूतक लग जाता है। सूतक के दौरान भगवान की पूजा करने की मनाही है।