पांच सौ कॉलेज छात्राओं का संकल्प- फौज में ही भेजेंगी अपनी संतानों को

नई दिल्ली (20 सितंबर): आतंकवाद और पाकिस्तान को मुहं तोड़ जवाब देने और समाज के सामने देश भक्ति की मिसाल कायम करते हुए बिहार के हाजीपुर की वीमेंस कॉलेज की 500 छात्राओं ने शादी के बाद अपने  बच्चों को फौज में भर्ती कराने का संकल्प लिया है।

छात्राओं ने कहा उरी में शहीद हुए जवानों के लिए यही हमारी श्रद्धांजलि है। छात्राओं ने कहा कि समाज को राह दिखाने औक शूर वीर पैदा करने की जिम्मेदारी हमेशा स्त्रीयों की रही है। हम उसी श्रेष्ठ भारतीय परंपरा का निर्वाह करेंगी। कॉलेज की इन छात्राओं को पहले इनके शिक्षकों ने समर्थन दिया अब पूरा समाज उनके साथ आ गया है।

दरअसल, कॉलेज की छुट्टी के बाद सभी 500 लड़कियां कॉलेज परिसर में इक्ट्ठा हुई। अग्नि को साक्षी मानकर ये संकल्प ले लिया कि अपनी संतानों को फ़ौज में जाने की प्रेरणा देंगी। अगर किसी वजह से इनके बच्चे फौज में भर्ती नहीं हो पाते हैं, तो उन्हें बचपन से इस प्रकार ट्रेनिंग देंगे कि जिस किसी भी क्षेत्र में रहें, भारत माता की सेवा देशभक्त की तरह करते रहें।