केंद्र की नई हज नीति से महिलाएं उत्साहित, 1244 महिलाओं ने अकेले किया आवेदन

नई दिल्ली (24 दिसंबर): केंद्र सरकार की हज नीति में बदलाव का व्यापक असर दिखने को मिल रहा है। पिछले दिनों सरकार ने अपने हज नीति में बदलाव करते हुए महिलाओं को अकेले हज पर जाने की इजाजत दी थी। अब तक महिलाओं को अपने मेहराम यानी पति या फिर नजदिकी संबंधियों के साथ ही हज पर जाने की इजाजत थी। इसके नए नियम से महिलाएं खासा उत्साहित नजर आ रही है। अगले साल हज की यात्रा पर जाने के लिए 1244 अकेली महिलाओं ने आवेदन किया है। इनमें से 1,016 महिलाओं का आवेदन स्वीकार कर लिया गया है।

आपको बता दें कि पिछले दिनों केंद्र सरकार ने नई हज नीति पेश की है, जिसमें सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अमल करते हुए सब्सिडी की व्यवस्था खत्म करने और 45 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को बिना मेहरम के हज पर जाने की इजाजत देने का प्रस्ताव किया गया था। पूर्व आईएएस अधिकारी और संसदीय कार्य सचिव अफजल अमानुल्लाह की अध्यक्षता वाली इस कमिटी का गठन 16 अप्रैल 2013 के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद किया गया था। इस कमिटी ने भारत सरकार की 2013 से 2017 के लिए बनी हज पॉलिसी का अध्ययन किया। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को अगले पांच सालों के लिए पॉलिसी तैयार करने के निर्देश दिये थे।

आपको बता दें कि एक तरफ जहां सऊदी सरकार महिलाओं को हज पर अकेले जाने की अनुमति देती है वहीं भारत में अबतक इसकी इजाजत नहीं थी।