आतंकी हाफिज सईद की निकली हेकड़ी, डर से टालनी पड़ी प्रेस कॉन्फ्रेंस

नई दिल्ली (25 नवंबर): अपने गुर्गों को दूसरों की हत्या के लिए उकसाने वाले हाफिज सईद को भी डर लगता है। सैकड़ों लोगों को मौत की घाट उतरवाने वाले दुनिया के सबसे खुंखार आतंकी हाफिज सईद की उस वक्त हेकड़ी निकल गई जब वो नजरबंदी से अपनी रिहाई के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाला था। बताया जा रहा है कि भारत और अमेरिका से डरकर हाफिज सईद ने अपना ये प्रेस कॉन्फ्रेंस टाला है।

दरअसल पाकिस्तान सरकार ने उसे इस हफ्ते की शुरूआत में रिहा कर दिया जिसके बाद अमेरिका ने उसे दोबारा नजरबंद करने की मांग की। सईद ने अमेरिकी मांग का जवाब देने के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी। सईद के संगठन जमात-उद-दावा के एक प्रवक्ता ने कहा कि उसने ‘इस्लामाबाद में तहरीक-ए-लब्बैक के कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई को देखते हुए देश में हुए दंगे के बाद अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस टाल दी।’

अमेरिका ने सईद के सिर पर एक करोड़ रुपये डॉलर का इनाम रखा है। 10 महीने तक नजरबंद रखे जाने के बाद उसे गुरुवार की मध्यरात्रि को रिहा कर दिया गया। पाकिस्तान सरकार ने उसे किसी भी दूसरे मामले में हिरासत में ना रखने का फैसला किया है, जिससे 2008 के मुंबई हमले के गुनहगारों को सजा दिलाने की भारत की कोशिशें प्रभावित होगी। मई 2008 में अमेरिकी वित्त विभाग ने सईद को एक वैश्विक आतंकी घोषित किया था। शुक्रवार अमेरिका ने पाकिस्तान से सईद को दोबारा नजरबंद करने की मांग की थी।