whatsapp व facebook पर पीएम मोदी के नाम का इस्तेमाल कर हो रही हैकिंग, ऐसे बचें

नई दिल्ली ( 27 जनवरी ): सोशल साइट्स व्हाट्सऐप और फेसबुक पर लोगों के साथ ठगी व गड़बड़ियों के कई कार्य हो रहे हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, हैकर्स डिजिटल इंडिया की आड़ में यूजर्स को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। इसके तहत हैकर्स सोशल मीडिया पर फेक मोबाइल रिचार्ज और सरकारी वेबसाइट्स के नाम के साथ पीएम मोदी की फोटो समेत लिंक्स पोस्ट कर रहे हैं। दरअसल ये लिंक्स वायरस हैं, जिनसे यूजर्स का निजी डाटा चुराया जा सकता है। इस फेक पोस्ट में बताया जा रहा है कि पीएम मोदी हर यूजर को 500 रुपए का फ्री रिचार्ज दे रहे हैं।

क्या है सच्चाई

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी इस तरह का कोई रिचार्ज फ्री नहीं दे रहे हैं और न ही ऐसी किसी कंपनी का प्रमोशन कर रहे हैं, जिससे रिचार्ज दिया जा रहा है। इस पोस्ट में सिर्फ रिचार्ज के लिए ही नहीं, बल्कि बैंक में पैसे जमा करने की लिमिट को बढ़ाने के लिए भी ऑफर दिए जा रहे हैं जिसमें यूजर्स की बैंकिंग और निजी जानकारी ली जा रही है। आपको बता दें कि ये पोस्ट भी सरकार की तरफ से नहीं दिया जा रहा है। यह सिर्फ एक स्पैम है, जिनसे आपकी निजी सूचनाएं चुराईं जा रही हैं।

अगर किसी यूजर को ऐसे मैसेज आते हैं, तो उन्हें इन मैसेज को तुरंत डिलीट कर देना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि गलती से भी इस मैसेज के लिंक पर क्लिक न हो। साथ ही इस तरह के किसी भी मैसेज पर भरोसा नहीं करें।