पाक मिनिस्ट्री की वेबसाइट हैक, मैसेज में 'टूटी फूटी' अंग्रेजी पढ़कर हैरान रह गए अधिकारी

नई दिल्ली (25 जनवरी): पाकिस्तान में राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के अधिकारी रविवार को तब हैरान रह गए, जब उन्होंने देखा कि उनके मंत्रालय की वेबसाइट हैक हो गई है। अधिकारियों के लिए ये तो हैरानी की बात तो थी ही, लेकिन हैकर्स की तरफ से जो मैसेजेस भेजे गए थे, उन्हें देखकर उनका पारा और चढ़ गया।

अगर आप सोंच रहे हैं कि ये मैसेजेस उनके देश के खिलाफ थे या हैकर्स ने मंत्रालय के किसी स्कैंडल का भंडाफोड़ कर दिया था, तो आपको बता दें कि ऐसा नहीं है। दरअसल अधिकारी इस बात पर हैरान थे कि हैकर्स ने 'गौरवांवित पाकिस्तानी' होने का दावा किया था। लेकिन जो मैसेजेस भेजे उनमें जो लिखा गया था, उसमें गलत शब्दों और व्याकरण का इस्तेमाल किया गया था।

पाकिस्तानी अखबार 'द डॉन' की रिपोर्ट के मुताबिक, मंत्रालय के एक वरिष्ठ नौकरशाह ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया, "मैसेजेस पढ़कर मैं देश में तेजी से गिरते शिक्षा के स्तर के बारे में सोचने लगा। मैसेजेस में कई गलतियां थी, यहां तक कि शब्दों के चुनाव में भी गलतियां की गई थीं। ऐसा देखकर मुझे हैकर्स को प्राइमरी स्कूल्स में भेजने का मन हुआ।"

अधिकारियों ने बताया, लगता है कि हैकर्स यंग्सटर्स रहे होंगे और उन्होंने वेबसाइट हैक करने के बाद अपनी भावनाओं का इज़हार किया होगा। लेकिन इसने यह भी दिखा दिया कि हमारी नई पीढ़ी हर चीज में कुशल हो सकती है, लेखन को छोड़कर। उन्होंने बताया, "सरकार को शिक्षा की गुणवत्ता को सुधारना चाहिए।" उन्होंने बताया कि हैकर्स ने बाचा खान यूनिवर्सिटी में हुए हमले की तारीख भी गलत लिखी थी। यह हमला 20 जनवरी को हुआ था ना कि 19 जनवरी को।