Blog single photo

गुरुवार को भूलकर भी न करें ये काम, हो सकती है बड़ी अनहोनी

ऐसे तो हिंदू धर्म में हर दिन का अपना एक अलग महत्व है। लेकिन गुरुवार का खास महत्व है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इसका संबंध जहां बृहस्पति ग्रह से है वहीं इसे नारायण का दिन भी कहा जाता है।

Vishnu Bhagwan

(Image Credit: Google)

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (7 नवंबर): ऐसे तो हिंदू धर्म में हर दिन का अपना एक अलग महत्व है। लेकिन गुरुवार का खास महत्व है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इसका संबंध जहां बृहस्पति ग्रह से है वहीं इसे नारायण का दिन भी कहा जाता है। इतना ही नहीं गुरुवार को साईं का दिन भी माना जाता है। मान्यता के मुताबिक बृहस्पति ग्रह दूसरे ग्रह के मुकाबले भारी होता है। इसलिए इसदिन भूलकर भी ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे शरीर या घर में हल्कापन आता हो और किसी अनहोनी की आशंका हो। इससे पति और बच्चे की उम्र घटती है या उनके साथ कोई बड़ी दुर्घटना भी हो सकती है। शास्त्रों के मुताबिक महिलाओं की जन्मकुंडली में बृहस्पति पति और संतान का कारक होता है। इसका मतलब यह है कि गुरु ग्रह संतान और पति दोनों के जीवन को प्रभावित करता है।

गुरुवार को न करें ये काम...

- बाल में नहीं लगाना चाहिए साबुन, न ही बाल कटाएं

- महिलाएं अगर अपना सिर धोती हैं या बाल कटाती हैं तो इससे बृहस्पति कमजोर होता है और पति व संतान की उन्नति रुक जाती है।

-  गुरु ग्रह को जीव भी कहा जाता है। गुरुवार को नाखून काटने और शेविंग करने से गुरु ग्रह कमजोर होता है, जिससे जीवन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

- घर में पोछा ना लगाएं। घर में अधिक वजन वाले कपड़ों को धोने, कबाड़ घर से बाहर निकालने, घर को धोने या पोछा लगाने से बच्चों, पुत्रों, घर के सदस्यों की शिक्षा, धर्म आदि पर शुभ प्रभाव में कमी आती

- इस दिन लक्ष्मी को ना करें नजरअंदाज गुरुवार को नारायण का दिन होता है, ये बात तो ठीक है।

- गुरुवार को लक्ष्मी-नारायण दोनों की एक साथ पूजा करने से जीवन में खुशियां आती हैं और पति-पत्नी के बीच कभी दूरियां नहीं आतीं। साथ ही धन में भी वृद्ध‍ि होती है।

Tags :

NEXT STORY
Top