प्रद्युम्न केस: पुलिस पर किसी तरह का दबाव नहीं था: गुड़गांव पुलिस कमिश्नर

नई दिल्ली(9 नवंबर): रेयान इंटरनैशनल स्कूल के प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई के खुलासे के बाद हरियाणा पुलिस की कार्रवाई पर सवाल खड़े हो गए हैं। सीबीआई ने कहा है कि प्रद्युम्न की हत्या स्कूल के ही 11वीं के स्टूडेंट ने की है और उसने इसे कबूल भी कर लिया है। हरियाणा पुलिस जब इस मामले की जांच कर रही थी तब स्कूल बस के कंडक्टर को इस हत्याकांड का आरोपी बताकर गिरफ्तार किया गया था। 

- पुलिस पर प्रद्युम्न केस में राजनीतिक दबाव के तहत काम करने के आरोप भी लग रहे हैं। हालांकि गुरुवार को प्रेस के सामने आए गुड़गांव पुलिस कमिश्नर ने इन आरोपों को खारिज किया है। 

- आईजी का कहना है कि पुलिस पर किसी तरह का कोई दबाव नहीं था। आईजी ने कहा कि गुड़गांव पुलिस ने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए पूरी ईमानदारी से कोशिश की। 

- कमिश्नर ने कहा कि पुलिस ने अबतक अपनी जांच खत्म नहीं की थी। उनके मुताबिक किसी पर भी हत्या का आरोप नहीं लगाया गया था क्योंकि पुलिस फिलहाल इस मामले में चार्जशीट दाखिल करने से काफी दूर थी। आईजी ने कहा कि जांच के शुरुआती दौर में ही यह मामला सीबीआई को सौंप दिया गया। 

- कंडक्टर की गिरफ्तारी से जुड़े सवालों पर फिलहाल गुड़गांव पुलिस असहज नजर आ रही है। गुड़गांव के कमिश्नर का कहना है कि पुलिस जांच की अपनी प्रक्रिया होती है। उसी प्रक्रिया के तहत सबूत इकट्ठे किए जा रहे थे। उन्होंने कंडक्टर की गिरफ्तारी को एक गलती मानने से इनकार किया। उन्होंने कहा कि जांच भले ही सीबीआई को सौंप दी गई है लेकिन यह अबतक पूरी नहीं हुई है।