पूर्व पार्षद का दावा, यहां रुकी थी हनीप्रीत

नई दिल्ली ( 22 सितंबर ): बलात्कारी बाबा गुरमीत रामरहीम की राजदार हनीप्रीत राजस्थान के हनुमानगढ़ जंक्शन में अपने भाई के ससुराल में रुकी थी। हैरानी की बात है कि हनुमानगढ़ पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। जबकि, हनीप्रीत की गिरफ्तारी को लेकर लुकआउट नोटिस जारी हो चुका था। 

बताया जा रहा है कि हरियाणा पुलिस ने इस संबंध में गुरुवार को पूर्व पार्षद मदन बाघला के घर पहुंचकर पूछताछ भी की, लेकिन बाघला परिवार के लोग इसको लेकर खुलकर नहीं बोल रहे हैं। हालांकि, मदन बाघला ने हनीप्रीत के यहां रुकने की पुष्टि की है।

बाघला का कहना है कि 28 अगस्त की रात को हनीप्रीत उनके घर पर रुकी थी और अगले दिन सुबह चली गई। उन्होंने कहा, "रिश्तेदार होने के कारण खाना बनाया गया, लेकिन हनीप्रीत ने खाना नहीं खाया था। वह यहां पर रोती रही और घर से जाते समय भी रो रही थी।"

उधर, पंचकूला पुलिस ने डेरामुखी की मां नसीब कौर, पत्नी हरजीत कौर, बेटे जसमीत और उसकी पत्नी को नोटिस जारी कर पंचकूला में पूछताछ के लिए बुलाया है।