शाबाश : 3 करोड़ का घर, परिवार के पास SUV, फिर भी महिला बेच रही है सड़क पर छोले-कुलचे, जानिए क्यों...

 

गुड़गांव (4 अगस्त) :  उस महिला के पास गुड़गांव में 3 करोड़ रुपये का मकान है। एसयूवी कार है। लेकिन क्या आप यकीन करेंगे कि उसे सड़क किनारे स्टाल लगाकर छोले कुलचे बेचने को मजबूर होना पड़ रहा है। इस महिला का कहना है कि उसे अपने परिवार के सुरक्षित भविष्य के लिए ये सब करना पड़ रहा है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक 34 वर्षीय इस महिला का नाम है उर्वशी यादव जो पूर्व स्कूल टीचर रह चुकी हैं। पिछले 15 दिन से वो छोले-कुलचे और परांठे बेचने पड़ रहे हैं। दरअसल अचानक उनके पति के हादसे की चपेट में आने की वजह से उनकी ज़िंदगी बदल गई। 6 साल में उनके पति के साथ ये दूसरा हादसा हुआ। डॉक्टरों ने उनके पति को हिप रिप्लेसमेंट की सलाह दी है। दिसंबर में उनकी सर्जरी होगी। उर्वशी के पति अमित यादव एक कंस्ट्रक्शन कंपनी में एक्जीक्यूटिव रह चुके हैं। उर्वशी के ससुर भारतीय वायुसेना के रिटायर्ड विंग कमांडर हैं।

उर्वशी का कहना है कि वो अपने परिवार पर वित्तीय संकट नहीं आने देना चाहतीं। उनकी 12 साल की बेटी और 7 साल का बेटा है। दोनों प्रतिष्ठित स्कूलों में पढ़ रहे हैं। उर्वशी का कहना है कि वो अपने बच्चों की पढ़ाई को वैसे ही जारी रखना चाहती है, जैसे कि वो अब तक चलती आई है।

महिला के परिवार में महिंद्रा स्कॉर्पियो और हुंडई क्रेटा कारें हैं। उर्वशी के ससुर ने उन्हें दुकान लेकर मदद करने की भी पेशकश की लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया।

उर्वशी का स्टाल इतना पापुलर हो गया है। दरअसल उन पर एक पोस्ट फेसबुक पर 'साउल स्टायरिंग्स बाई सुनाली'  के नाम से आई थी। इसे हजारों लोगों ने लाइक और शेयर किया है। उर्वशी इस वजह से अपना बिजनेस बढ़ने से बहुत खुश हैं। उन्हें अब रोज ढाई हजार से तीन हज़ार रुपये की इनकम होती है। वो सुबह साढ़े आठ बजे से दोपहर बाद साढ़े चार बजे तक स्टाल लगाती हैं।