गुड़गांव: आरोपी ने कबूली 9 मासूमों की हत्या की बात, रेप से पहले तोड़ देता था बच्चियों की पैर

                                                                                                              Image Source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 नवंबर): देश में रेप के मामले घटने का नाम नहीं ले रहे हैं। गुड़गांव के सेक्टर-66 में 3 साल की बच्ची से रेप के बाद दरिंदगी और हत्या के मामले में पकड़े गए युवक के खुलासे ने पुलिस के होश भी उड़ा दिए हैं। पूछताछ में युवक ने अब तक 9 मासूम बच्चियों से रेप और हत्या की बात कबूली है। इन बच्चियों की उम्र 3 से 8 साल के बीच थी। इनमें 3 मामले गुड़गांव के, 1 ग्वालियर, 1 झांसी और 4 दिल्ली की बच्चियां शामिल हैं। गुड़गांव पुलिस अब दिल्ली, ग्वालियर व झांसी पुलिस से संपर्क कर केस की जानकारी जुटा रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 12 नवंबर की सुबह सेक्टर-66 एरिया में तीन साल की मासूम का शव सड़क किनारे मिला था। वह 11 नवंबर की दोपहर से गायब थी। रेप के बाद बर्बरता कर उसकी हत्या की गई थी। वारदात का आरोप पास की ही झुग्गी में रहने वाले युवक सुनील पर लगा था। पुलिस ने उसके जीजा और बहन और मां से पूछताछ की। इसके बाद शनिवार देर रात उसे झांसी के मगरपुर गांव से दबोचा किया गया।

आपको बता दें कि 9 बच्चियों से रेप के बाद हत्या करने वाले दरिंदे सुनील का वारदात करने का तरीका भी रोंगटे खड़े कर देने वाला है। भंडारे या अन्य सुनसान स्थान से वह बच्ची को कुरकुरे या चॉकलेट दिलाने के बहाने साथ ले जाता था और सुनसान स्थान पर ले जाकर वह सबसे पहले बच्ची की टांग तोड़ देता था, ताकि वह भागने न पाए। इसके बाद दरिंदगी से रेप करता और फिर सिर पर पत्थर मारकर हत्या कर देता। शव को कभी मौके पर तो कभी अगल बगल फेंक देता था। वारदात के बाद वह शराब पीकर एंजॉय करता था।

8 साल पहले हुई पिता की मौत के कुछ दिन बाद ही वह घर से चला गया था। बीते 7 साल से वह घर से अलग रह रहा था और इसी तरह सड़कों पर घूमता रहता था। कहीं भी लगे भंडारे में फ्री का खाना खाता और जब शराब के लिए रुपये की जरूरत होती तो एक-दो दिन मजदूरी कर लेता था। इन सभी बच्चियों की हत्या और रेप की वारदात को उसने बीते दो साल में अंजाम दिया।

खबर के मुताबिक जांच में पुलिस को पता चला कि युवक सड़क किनारे कहीं भी सो जाता है तो कभी मजदूरी करने लगता है। उसे भंडारे में खाना खाने का शौक है। अकसर वह ऐसा करता है। उसे फंसाने के लिए पुलिस ने मंगलवार को गुड़गांव के एक हनुमान मंदिर में, गुरुवार को सांई मंदिर में और शनिवार को शनि मंदिर में भंडारे का आयोजन किया। इस दौरान 100 से अधिक पुलिसकर्मियों ने करीब 2 हजार लोगों को चेक किया, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला।